जाने पूर्व राष्ट्रपति होने पर प्रणव मुखर्जी को दिया जाने वाले घर के बारे में …!!!

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 25 जुलाई को देश के प्रथम नागरिक से पूर्व राष्ट्रपति हो जायेंगे. इसके साथ ही रायसीना हिल स्थित 320 एकड़ में विस्तीर्ण 340 कमरों वाला भव्य राष्ट्रपति भवन उनका पूर्व पता हो जाएगा और लुटियन दिल्ली में राजाजी मार्ग स्थित 8 बैडरूम वाला 10 नंबर बंगला प्रणब दा का स्थायी पता बन जायेगा.

किस आधार पर आवंटित होता है आवास? : राष्ट्रपति पेंशन अधिनियम के तहत पूर्व राष्ट्रपति को उसकी मर्जी से देश में कही भी प्रथम श्रेणी की आजीवन आवासीय सुविधा सरकार द्वारा निशुल्क मुहैया कराई जाती है. इसके तहत मुखर्जी को उनकी पसंद से राजाजी मार्ग स्थित 11776 वर्गफुट क्षेत्रफल में बना 10 नंबर बंगला आवंटित किया गया है. इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को भी यही बंगला आवंटित किया गया था. कलाम इसमें साल 2015 में निधन होने तक रहे थे.

मुखर्जी के लिए लगाई गई लिफ्टः टाइप 8 श्रेणी का यह बंगला लुटियन दिल्ली का पहला बंगला होगा जिसमें मुखर्जी के विशेष अनुरोध पर लिफ्ट लगायी गई है. लुटियन बंगलों के आवंटन और रखरखाव से जुड़े शहरी विकास मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दो मंजिल वाले इस बंगले में एक छोटी लिफ्ट लगाई गई है. अधिकारी ने बताया कि सम्पदा निदेशालय के नियमों के तहत ब्रिटिश काल में बसी लुटियन दिल्ली के मूल स्वरूप को बरकरार रखने के लिए बंगलों की रंगत तो बदली जा सकती है लेकिन इनमें कोई बड़ा तकनीकी या आमूलचूल परिवर्तन नहीं किया जा सकता है.

बनाई गई लाइब्रेरीः संपदा निदेशालय की देखरेख में केंद्रीय लोक निर्माण विभाग इन बंगलों की मरम्मत और रखरखाव करता है. निदेशालय ने नियमों के तहत ही मुखर्जी के बंगले में कोई नया निर्माण कार्य या बड़ा बदलाव किये बिना ही लिफ्ट लगाने का काम मुकम्मल किया है. अधिकारी ने बताया कि मुखर्जी की जरूरत को ध्यान में रखते हुए बंगले में दो हॉल को अतिथि कक्ष के तौर पर तैयार किया है जबकि किताबों से प्रणब दा के विशेष लगाव को देखते हुए एक कमरे को पुस्तकालय में तब्दील किया गया है. राष्ट्रपति भवन से मुखर्जी ने अपने निजी सामान के साथ किताबों का पुराना भंडार ही नए घर में शिफ्ट करने की इजाजत दी है। उनके एक निजी सहायक ने बताया कि राष्ट्रपति बनने पर भी मुखर्जी अपने साथ किताबों का ही अपना संग्रह राष्ट्रपति भवन लेकर आये थे। बतौर राष्ट्रपति बीते पांच सालों में उन्हें जो तोहफे मिले उनमें कुछ चुनिंदा पसंद की किताबें ही मुखर्जी अपने साथ ले जाएंगे शेष तोहफे राष्ट्रपति भवन के संग्रहालय का हिस्सा बनेंगे।

शर्मिष्ठा के नृत्य शौक का भी ख्यालः बेटी की नृत्य संगीत साधना की जरूरत को ध्यान में रखते हुए ऊपरी मंजिल का एक कमरा पारंपरिक संगीत की सुविधाओं से लैस किया गया है. मुखर्जी अपनी जीवनी और राष्ट्रपति के रूप में अपने कार्यकाल पर पुस्तक लिखने की मंशा पहले ही जता चुके है इसके मद्देनजर बंगले की दोनों मंजिलों पर एक एक अध्ययन कक्ष का खास इंतजाम किया गया है, जिससे उनका पढ़ने लिखने का काम सुचारू रह सके.

    'No new videos.'

अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या नवेली बॉलीवुड में एंट्री को तैयार…!!!

अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या नवेली काफी समय से सोशल मीडिया में छाई हुई हैं. अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन और बेटी श्वेता नंदा भले ही अब इतने फेमस नहीं हैं लेकिन इन दोनों के बच्चे अभी से ही पॉपुलर हो गए हैं। एक तरफ आराध्य बच्चन है तो दूसरी तरफ नव्या नवेली नंदा। जहाँ आराध्य अभी बहुत छोटी हैं और अपने परिवार के साथ कभी कभार स्पॉट होती रहती हैं वहीँ दूसरी तरफ नव्या ने हाल ही में अपनी ग्रेजुएशन पूरी की और खबरों के मुताबिक वो बॉलीवुड में एंट्री मारने की फिराक में हैं।

naval.jpg

इसी से समझ सकते हैं कि बॉलीवुड में एंट्री से पहले ही नव्या एक अलग पहचान बनाती दिख रही हैं. हाल ही में वह ऐश्वर्या राय और करण जौहर के साथ दिखाई दीं.

    'No new videos.'

हॉस्टल फीस पर जीएसटी (GST) की 18 फीसदी दर लागू नहीं ….!

नई दिल्ली: हॉस्टल में रहने वाले छात्र छात्राओं के लिए यह राहत की खबर है. छात्रावासों में रहने के लिए विद्यार्थियों द्वारा दिए जाने वाले वार्षिक शुल्क या फीस पर 18 प्रतिशत की दर से वस्तु और सेवा कर प्रभावी नहीं होगा.जीएसटी में शिक्षा और संबंधित सेवाओं के कर दायित्व में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है. वित्त मंत्रालय से जारी सूचना के अनुसार, विद्यार्थियों को छात्रावास सुविधा के लिए शैक्षणिक संस्थान द्वारा लगाए जाने वाले वार्षिक शुल्क पर जीएसटी प्रभावी नहीं होगी. शैक्षणिक संस्थान द्वारा विद्यार्थियों, शिक्षकों और कर्मचारियों को दी जाने वाली सेवाएं पूरी तरह से मुक्त हैं.

IPS Academy

इस दायरे में स्कूल पूर्व शिक्षा तथा उच्च माध्यमिक विद्यालय या समकक्ष तक शिक्षा, विधि द्वारा मान्य योग्यता प्राप्त करने के लिए पाठ्यक्रम के हिस्से के रूप में शिक्षा और स्वीकृत व्यावसायिक शिक्षा पाठ्यक्रम के हिस्से के रूप में शिक्षा को रखा गया है.इस तरह स्कूल पूर्व शिक्षा तथा उच्च माध्यमिक स्तर की शिक्षा या विधि द्वारा मान्य योग्यता के लिए शिक्षा प्रदान करने वाले शैक्षणिक संस्थानों द्वारा दी जाने वाली भोजन/आवास सेवाएं जीएसटी से पूरी तरह मुक्त हैं. शैक्षणिक संस्थान द्वारा विद्यार्थियों को दी जाने वाली आवासीय सुविधा के लिए जाने वाले शुल्क जीएसटी के दायरे में नहीं आते. (IANS न्यूज एजेंसी से इनपुट)

    'No new videos.'

पहला सैटेलाइट आर्यभट्ट के जनक व् इसरो के पूर्व प्रमुख यूआर राव का निधन…!!

भारत को इसका पहला सैटेलाइट आर्यभट्ट देने वाले इसरो के पूर्व प्रमुख यूआर राव का 85 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने सोमवार अल सुबह अंतिम सांस ली। दिल की बीमारी से पीड़ित राव को कुछ समय पहले अस्पताल में भर्ती करवाया गया था लेकिन उनकी हालत में सुधार रहीं हुआ।
उन्हें केंद्र सरकार ने इसी साल पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा था जबकि 1976 में उन्हें पद्म भूषण सम्मान दिया गया था। उनके निधन पर दुख जताते हुए पीएम मोदी ने ट्वीट किया है। पीएम ने लिखा है कि यूआर राव के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। उनका भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान में योगदान अतुलनीय है।

U R Rao

उडुपी राव ने 1972 में उपग्रह प्रौद्घोगिकी की स्थापना की जिम्मेदारी ली थी। 1975 में उनके ही नेतृत्व में भारत ने अपना पहला उपग्रह आर्यभट्ट सफलतापूर्वक लॉन्च किया था। तब से लेकर देश के मार्स ऑर्बिटर मिशन तक उनका योगदान रहा।यूआर राव का जन्म कर्नाटक के अडामारू में 10 मार्च 1932 को एक साधारण परिवार में हुआ था। उन्होंने ही देश में प्रक्षेपास्त्र प्रौद्योगिकी का भी विकास तेज किया और उसी का नतीजा था कि 1992 में एएसएलवी का सफल प्रक्षेपण किया गया।
पूर्व इसरो चीफ फिजिकल रिसर्च लेबोरेटरी की गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस के चांसलर की जिम्मेदारी निभा रहे थे। पिछले कुछ सालों में वो कईं उच्च पदों पर रहे और उन्हें 10 अंतरराष्ट्रीप अवार्ड मिले हैं। उन्होंने 1984-94 तक इसरो को अपनी सेवाएं दीं।

    'No new videos.'

इंदौर में हाथ में बंदूक लिए टमाटर की पहरेदारी कर रहे हैं सुरक्षा गार्ड

tomato-01-580x395

पिछले कुछ महीने से टमाटर का बाजार गरमाया हुआ है. मुंबई में टमाटर के कैरेट चुराए जा रहे और इसका सीधा असर मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर पर दिख रहा है, जहां अब कड़ी सुरक्षा के बीच मंडी में टमाटर बेचा जा रहा है. यहां टमाटर की सुरक्षा के लिए चार-चार गार्ड पहरेदारी कर रहे हैं.
कुछ दिनों पहले मुंबई में एक सब्जी की दुकान से 300 किलो टमाटर चोरी कर लिए गए थे. ये खबर जब इंदौर की मंडी तक पहुंची तो यहां टमाटर बेचने वालों ने सुरक्षा की मांग की. जिसके बाद बंदूक के साथ गार्ड टमाटर की सुरक्षा में लग गए हैं.
सब्जी व्यापारियों का कहना है कि इस साल टमाटर का उत्पादन कम हुआ है. इंदौर की चोइथराम मंडी में एक महीने पहले तक 6 से 7 हजार कैरेट टमाटर हर रोज आ रहे थे, लेकिन अब यहां महज 1200 कैरेट टमाटर ही हर रोज आ रहे हैं.
टमाटर के दाम भी आसमान छू रहे हैं. 5 से 10 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर अब थोक मंडी में 65 और आम आदमी की थाली तक 100 रुपए किलो तक पहुंच रहा है. अब जब टमाटर के भाव इतने बढ़ गए हैं तो उनकी सुरक्षा बढ़ाना तो लाजमी है.

    'No new videos.'

फिल्म रिव्यू: ‘मुन्ना माइकल’

munna_review_2017721_165231_21_07_2017

किसी भी कमर्शियल फिल्म की सबसे बड़ी चुनौती होती है कि प्रिडिक्टेबल स्टोरी होने के बावजूद भी एक एंगेजिंग फिल्म बनाना। एेसा करने में डायरेक्टर सब्बीर खान पूरी तरह सफल हुए हैं। फिल्म ”मुन्ना माइकल” की कहानी माइकल जैक्सन के एक एेसे फैन की है जो उसे भगवान की मानता है। मुन्ना का काम छोटे क्लब्स में चैम्पियंस को हराकर पैसा कमाना है। यही उसकी रोजी-रोटी है। एेसे में डांस उसको कैसे दूसरे शहरों में लेकर जाता है यह बखूबी दिखाया गया है। दिल्ली में मुन्ना की मुलाकात नवाजुद्दीन सिद्दीकी से होती है जो एक फौजी की भूमिका में हैं। नवाज दिल्ली में है। यह फौजी एक क्लब डांसर से प्यार करता है जिसका नाम है डॉली है। डॉली को इम्प्रेस करने के लिए फौजी अपने दोस्त टाइगर का सहारा लेता है। और आगे किस तरह प्यार परवान चड़ता है फिल्म में बखूबी दिखाया गया है। खास बात कि यह फिल्म इन तीनों के जीवन में डांस फैक्टर कितना महत्वपूर्ण है यह दर्शाती है। इसी ताने-वाने पर बुनी गई है ये फिल्म ‘मुन्ना माइकल’।
नवाजुद्दीन सिद्दीकी और टाइगर की शानदार परफॉर्मेंस के लिए देखें। नवाज ने फौजी की भूमिका में एक नया आयाम छुआ है। फिल्म के लीड एक्टर टाइगर श्रॉफ ने शानदार डांस मूव्स किए हैं और उनकी बॉडी भी लाजवाब है। ये फिल्म उन दर्शकों के लिए है जो वाकई कुछ हटकर देखना चाहते हैं। ये रेगुलर कमर्शियल मसाला फिल्म नहीं है। ये सिर्फ बुद्धिजीवियों को ही पसंद आएगी।

    'No new videos.'

सीबीएसई के चेयरमैन राजेश कुमार चतुर्वेदी इंदौर आये

DJEshishukunj  ....photo AShu patel

सीबीएसई के चेयरमैन राजेश कुमार चतुर्वेदी गुरुवार को शहर में थे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा उठाए गए जीएसटी और नोटबंदी जैसे अहम कदम अब सीबीएसई स्टूडेंट्स को पढ़ाए जाएंगे क्योंकि भविष्य में इनका व्यापक असर होगा। देश-विदेश के 19 हजार सीबीएसई स्कूलों की बोर्ड क्लासेस में एक जैसा कोर्स लागू करने और परीक्षा के पैटर्न में बदलाव की बात भी उन्होंने की।
नैतिक मूल्यों पर खास जोर देते हुए राजेश कुमार ने कहा कि देश की पुरानी गुरुकुल शिक्षा पद्धति में कई खूबियां थीं। नई शिक्षा व्यवस्था में उन्हें शामिल करने की कोशिश की जा रही है। संस्कृत अध्ययन पर खास जोर दिया रहा है क्योंकि ये एक ऐसी भाषा है जिस पर जर्मनी, यूके समेत कई देशों में रिसर्च किया जा रहा है। कुछ संस्थानों में तो इसे कंपलसरी कर दिया गया है मगर हमारे देश में इसे पर्याप्त महत्व नहीं दिया जा रहा है। जब संस्कृत सभी इंडो-यूरोपियन भाषाओं की जननी है।

    'No new videos.'

फेसबुक ने लॉन्च किया मैसेंजर लाइट

Messenger-Lite

सोशल मीडिया वेबसाइट फेसबुक ने अपने एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स के लिए मैसेंजर ऐप का लाइट वर्जन लॉन्च किया है. मैसेंजर लाइट ऐप यूजर्स के लिए गूगल प्ले स्टोर पर डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है. मैसेंजर लाइट वर्जन का साइज 5MB है.
फेसबुक ने मैसेंजर का यह लाइट वर्जन अपने उन यूजर्स को ध्यान में रखते हुए लॉन्च किया है, जो कि धीमी स्पीड के इंटरनेट या फिर सस्ते एंड्रॉयड स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं. मैसेंजर लाइट वर्जन के जरिए यूजर्स डेटा की बचत भी करेगा.
मैसेंजर लाइट का यूजर इंटरफेस बिल्कुल सिम्पल रखा गया है. फेसबुक की तरफ से जारी किए गए एक नोट में बताया गया है मैसेंजर लाइट ऐप में टेक्स्ट मैसेज सेंड करने से लेकर, फोटो और इमोजी का विकल्प भी मिलेंगे. इन सब फीचर्स के बावजूद मैसेंजर का साइज महज 5MB ही रखा गया है. चैट के इस्तेमाल के लिए मैसेंजर का लाइट वर्जन बहुत ही क्वीक है.
हालांकि, मैसेंजर लाइट में यूजर्स को वीडियो कॉलिंग और वॉयस कॉलिंग की सुविधा नहीं मिलेगी. मैसेंजर लाइट जर्मनी, श्रीलंका, जापान जैसे देशों में पहले से उपलब्ध था.
आपको बता दें कि फेसबुक ने कुछ साल पहले ही फेसबुक ऐप के लाइट वर्जन को भी लॉन्च किया था. फेसबुक लाइट कम बजट वाले स्मार्टफोन्स पर काफी पॉपुलर ऐप बन चुका है. हाल ही में फेसबुक ने जानकारी दी थी कि 20 करोड़ लोग फेसबुक के लाइट वर्जन का इस्तेमाल करते हैं.

    'No new videos.'

अमेरिका की दो यूनिवर्सिटी में सिलेक्ट हुई इंदौर की होम स्कूलर

maitreyi_201751_235920_01_05_2017

शहर की 17 साल की होम स्कूलर मैत्रेयी गेहलोत का सिलेक्शन विश्व की टॉप 20 विवि में शामिल न्यूयार्क और शिकागो यूनिवर्सिटी के लिए हुआ है। इसमें से यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो ने मैत्रेयी को फुल स्कॉलरशिप ऑफर की है। वहीं न्यूयार्क यूनिवर्सिटी ने उसे 60 प्रतिशत स्कॉलरशिप ऑफर की थी। इन दोनों में से मैत्रेयी ने शिकॉगो यूनिवर्सिटी का चयन किया है। यहां उसे चार साल के कोर्स के दौरान करीब सवा करोड़ स्र्पए की स्कॉलरशिप दी जाएगी।
मां अर्चना ने बताया कि मैत्रेयी ने आठवीं के बाद स्कूल में पढ़ाई नहीं की। दसवीं और बारहवीं की परीक्षा यूनिवर्सिटी ऑफटेक्सास के स्कूल से दी है। इसके अलावा अमेरिका के ‘एडवांस प्लेसमेंट प्रोग्राम” के तहत उसने ह्यूमन जियोग्राफी, एनवायर्नमेंटल साइंस, साइकोलॉजी, एडवांस इंग्लिश लिटरेचर एंड कम्पोजीशन जैसे कॉलेज लेवल कोर्सेज आदि की तैयारी भी सेल्फ स्टडी से करके कॉलेज जाने के पहले ही इनकी परीक्षा पास कर ली है। मैत्रेयी के माता-पिता आईटी प्रोफेशनल हैं।

    'No new videos.'

14वें राष्ट्रपति चुने गए रामनाथ कोविंद

ramnath

रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति चुने गए. रामनाथ कोविंद को 7 लाख 2 हजार 44 वोट और विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को 3 लाख 67 हजार 314 वोट मिले. राष्ट्रपति चुने जाने के बाद रामनाथ कोविंद ने कहा कि गरीबी से उठकर कच्चे घर में पलकर आज यहां तक पहुंचा हूं. राष्ट्रपति भवन में ऐसे गरीबों का प्रतिनिधि बनकर जा रहा हूं रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति चुनाव में जीत का सर्टिफिकेट मिला. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को बधाई दी |पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने ट्वीट कर रामनाथ कोविंद को बधाई दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को बधाई दी है.केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने रामनाथ कोविंद से मिलकर उन्हें बधाई दी.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह 10 अकबर रोड जाकर नए राष्ट्रपति को बधाई देंगे. फिलहाल कोविंद इसी घर में ठहरे हुए हैं.
रामनाथ कोविंद के गांव कानपुर देहात के गांव परौंख में खुशी का माहौल है. नाच गाकर लोग खुशी मना रहे हैं.

    'No new videos.'