विशिष्ट संगीत परंपराओं के अनोखे संगम

राजधानी मंगलवार शाम भारत और फ्रांस की विशिष्ट संगीत परंपराओं के अनोखे संगम की गवाह बनी। मौका था सीरीफोर्ट ऑडिटोरियम में आयोजित इंडो-फ्रांस म्यूजिकल फेस्टिवल अनंता ऑपस 195 के आयोजन का। यह आयोजन भारत-फ्रांस के आपसी संबंधों का जश्न मनाने के लिए भारत में आयोजित बॉनजोर इंडिया फेस्टिवल ऑफ फ्रांस के तहत किया गया। इस म्यूजिकल फेस्टिवल में पहली बार सरोद, सिम्फोनिक और इलेक्ट्रिक ऑरकेस्ट्रा को एक साथ मंच पर प्रस्तुत किया गया जो श्रोताओं के लिए अद्भुत था। एक तरफ भारतीय संगीत का प्रतिनिधित्व दिग्गज सरोदवादक अमजद अली खान बंगश, उनके दोनों पुत्र अमान व अयान अली खान बंगश और तबला वादक तन्मय बोस कर रहे थे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *