सिन्हा ने भी गोवा में आयोजित की मीटिंग

मुंबई. भाजपा में फिलहाल अंदरूनी कलह से जूझ रही है। एक तरफ पार्टी का बड़ा खेमा नरेंद्र मोदी को भाजपा का पीएम पद का उम्मीदवार देखना चहता है वहीं दूसरी ओर इस मामले में जबसे आडवाणी ने इस्तीफा दिया है पार्टी में हड़कंप मचा हुआ है। कई दिग्गज नेता आडवाणी के प्रति अपनी वफादारी साफ दिखा चुके हैं जब उन्होंने आडवाणी का खुलकर समर्थन किया और अब इसी कड़ी में नाम जुड़ गया है शत्रुघ्न सिन्हा का नाम जुड़ गया है।  शत्रुघ्न को वैसे भी आडवाणी के काफी करीब माना जाता है। इतना ही नहीं सूत्रों की मानें तो शॉटगन यानी शत्रुघ्न गोवा में हाल में ही हुई मीटिंग में भी नहीं गए। इसकू वजह हलांकि उनका बिमार होना बताया जा रहा था मगर इसके पीछे मोदी फैक्टर का हाथ है।  दरअसल शत्रुघ्न की आडवाणी के प्रति निष्ठा जगजाहिर है। मगर मोदी को पीएम पद के लिए पार्टी द्वारा नियुक्त किया जाना रास नहीं आ रहा था । इसी कारण वे इस मीटिंग से कन्नी काट गए।  शत्रुघ्न सिन्हा के एक करीबी सूत्र ने बताया कि सिन्हा का आडवाणी जी में अटल विश्वास है। सूत्रों का यकीन करें तो सिन्हा ने भी गोवा में आयोजित पार्टी की मीटिंग को अटेंड नहीं किया था। इसको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे थे मगर सच हात तो ये है कि शत्रुघ्न सिन्हा का स्वास्थ्य इन दिनों कुछ खराब है। वे फ्लू से पीड़ित हैं। यही वजह रही कि उन्होंने गोवा मीटिंग को अटेंड नहीं किया था।  आगे की स्लाइड्स में पढ़िए आखिर क्यों की शत्रुघ्न ने मोदी की बगवात और क्या मानना है उनका आडवाणी के बारे में …साथ ही देखिए नई दिल्ली में आडवानी के घर के सामने कैसे लगा आला भाजपा नेताओं का जमानड़ा…।  आगे पढ़ें,  …तो इन कारणों से आडवाणी को ‘हरा कर’ आज बीजेपी में नंबर 1 हैं नरेंद्र मोदीआडवाणी के पक्ष में आए शत्रुघ्न सिन्हा, मोदी की पीएम उम्मीदवारी पर जताई नाराजगी मोदी की इन 5 खामियों पर भी तो नजर डालिए

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.