भारत को मिल चुकी है ताकत कि चीन समेत आधे यूरोप पर गिरा सकेगा बम

6 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम हरियाणा शहर में आए थे। यहां पर वे जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज में डिग्री बांटने के लिए आए थे।
डिग्रियां प्रदान करने बाद डॉ. कलाम ने कहा कि शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो शिक्षार्थी में जिज्ञासा, क्रिएटिविटी और नैतिक लीडरशिप लाने में सहायक बन सके। जिस शिक्षार्थी में ये गुण होंगे उसे आगे बढ़ने में दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती। बच्चों के दिल में बहुत सारी जिज्ञासाएं भी थीं जिन्हें डॉ. कलाम ने शांत किया।
यहां पर डॉ. कलाम ने जब एक हवलदार से हाथ मिलाने के लिए हाथ आगे बढ़ाया तो हवलदार सकपका गया और सोचने लगा कि पूर्व राष्ट्रपति से कैसे हाथ मिलाए। हाथ मिला कर हवलदार ने खुद को कापी धन्य महसूस किया।
डॉ. कलाम ने हमारे देश को इतनी मिसाइलें दी हैं कि अब उन्हें मिसाइल मैन के नाम से ही पुकारा जाने लगा है। आज के इस पैकेज में हम आपके भारत की कुछ खास मिसाइलों के बारे में बताने जा रहे हैं। मिसाइल मैन के हरियाणा आकर यहां पर बच्चों का उत्साह बढ़ाने के लिए उनका बहुत-बहुत धन्यवाद।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.