घड़ियाल की तस्वीर से 14 साल के भारतीय को बेस्ट फोटोग्राफर अवॉर्ड

मध्य प्रदेश की चंबल नदी के एक घड़ियाल ने 14 साल के भारतीय किशोर को इस साल का ‘यंग वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द इयर अवॉर्ड’ जीतने में मदद की।
उदयन राव पवार ने ताजे पानी के इस घड़ियाल की तस्वीर उतारने के लिए पूरी रात चंबल के किनारे पर गुजारी। पवार की इस तस्वीर में शिशु घड़ियाल पानी में अपनी मां के सिर पर सवार दिख रहे हैं।
उनका कहना है, ‘जैसे ही सुबह हुई मैं एक चट्टान के पीछे छिप गया और सूरज की पहली किरण के साथ मैंने ये तस्वीरें उतारीं।’ पवार का कहना है, ‘मैं उन्हें बोलते हुए सुन सकता था। जल्दी ही एक बड़ी सी मादा तैरती हुई तट के पास आई और अपने बच्चों को देखने लगी। कुछ बच्चे झटपट तैरते हुए उसके पास पहुंचे और मां के सिर पर चढ़ गए। शायद उन्हें सुरक्षित महसूस हो रहा था।’
संरक्षण के तमाम प्रयासों के बावूजद ताजे पानी के घड़ियाल लुप्त होने के कगार पर है। अवैध बालू खनन और मछली पकड़ने के कारण तकरीबन 200 जोड़े ही जीवित बचे हैं। पवार की तस्वीर के बारे में प्रकृतिविज्ञानी और वन्यजीव फोटोग्राफर तथा प्रतियोगिता के जज तूई डे रॉय ने कहा कि उदयन की तस्वीर की कंपोजिशन और टाइमिंग दोनों बहुत बढ़िया है। ऐसा लगता है कि मां अपने बच्चों को लिए कातर निगाहों के साथ अपील कर रही हो कि मुझे जीने दो शांति से जीने दो। तस्वीर का यह पहलू बहुत सुंदर है।
—————————-

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.