जश्न-ए-अंदाज दुनिया भर में अलग-अलग तरीके से

नया साल खुशियों की सौगात लेकर आए इस उम्मीद के साथ उसका स्वागत दुनिया भर में अलग-अलग तरीके से किया जाता है। नए साल के स्वागत के लिए घर की सफाई के साथ कुछ परंपरागत तरीकों को भी अपनाया जाता है। आइये हम आपको बताते हैं कि दुनिया के कोने-कोने में लोग किस तरह नए साल का स्वागत करते हैं।

ब्रिटेन : यहां पर लोग नए साल का स्वागत अतिथ्य भाव से करते हैं। मान्यता है कि वर्ष का पहला मेहमान उनके लिए ऐश्वर्य सौभाग्य लेकर आता है। शर्त यह है कि यह मेहमान पुरुष होना चाहिए। उसके लिए तोहफा लाना अनिवार्य होता है। मेहमान मुख्यद्वार से प्रवेश करता है और अपने साथ पारंपरिक तौर पर रसोई घर का सामान, घर के मुखिया के लिए शराब या आग जलाने के लिए कोयला जैसे तोहफे लाता है। वह पीछे के दरवाजे से बाहर जाता है। तोहफे बगैर उसे घर में आने की इजाजत नहीं होती है।

नए साल में नया निवेश बदलेगा बाजार की चाल

डेनमार्क : यहां लोग नए साल के दिन घर की पुरानी प्लेटों को अपने पड़ोसियों, रिश्तेदारों और दोस्तों के घरों के सामने तोड़ते हैं। इसे दोस्ती और आत्मीयता का प्रतीक माना जाता है। समझा जाता है कि जिस भी घर के सामने सबसे ज्यादा टूटी हुई प्लेटें होती हैं, वह सबसे अधिक प्रिय होता है।

फिलीपींस :

नए साल के दिन लोग पोलका हॉट्स (गोल बिंदुओ) वाले कपड़े पहनते हैं और गोल आकृति का फल खाते हैं। इसे सृमद्धि का प्रतीक समझा जाता है।

चिरी :

यहां मध्यरात्रि के समय शैम्पेन भरे गिलास में सोने की अंगूठी रखी जाती है, जो सौभाग्य का प्रतीक समझी जाती है।

प्यूर्टो रिको :

यहां नए साल के मौके पर दरवाजे या बालकनी से ठंडा पानी बाहर फेंका जाता है।

आस्ट्रेलिया :

यहां नए साल के दिन सार्वजनिक छुट्टी होती है। लोग 31 दिसंबर की आधी रात से सीटियां, कार के हॉर्न और चर्च की घंटियां बजाना शुरू कर देते हैं और नए साल का स्वागत करते हैं।

दक्षिण अफ्रीका :

नए साल पर चर्च की घंटियां बजने के साथ ही लोग बंदूक से गोलियां चलाने लगते हैं।

जर्मनी :

यहां लोग ठंडे पानी में पिघला हुआ सीसा डालते हैं। इससे बनने वाली आकृति भविष्य की जानकारी देती है। यानी अगर दिल का आकार बना तो शादी होगी। गोलीकार आकार बना तो साल सौभाग्यशाली रहने वाला है। इसके अलावा नए साल की पूर्व संध्या पर खाए गए भोजन का कुछ भाग आधी रात तक बचा कर रखा जाता है। मान्यता है कि इससे आने वाले साल के दौरान घर में पर्याप्त मात्रा में भोजन सामग्री रहेगी।

बॉलीवुड सितारों का न्यू ईयर प्लान, जानिए कौन कहां जा रहा है

जापान :

जापान में नए साल को ओसोगात्सु कहा जाता है। इस दिन सभी तरह का कारोबार बंद रहता है। बुरी ताकतों को दूर रखने के लिए इस दिन घर के मुख्यद्वार के ऊपर रस्सी बांधी जाती है। नए साल के आगमन के साथ ही जापानी जोर जोर से हंसने लगते हैं। घड़ी में 12 बजने से पहले 108 घंटियां यह दिखाने के लिए बजाई जाती हैं कि इतनी परेशानियों का सफाया कर दिया गया है।

मध्य और दक्षिण अमेरिका :

इन दिन यहां के लोग पीले रंग के कपड़े खरीदते हैं, तो सोने (धातु) का प्रतीक हैं।

पुर्तगाल, स्पेन :

यहां लोग नए साल के मौके पर 12 अंगूर खाते हैं। उनका मानना है कि ये आगामी 12 महीने में उनके लिए खुशहाली लाएंगे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.