मांडू मालवा का खास पर्यटन स्थल

नर्मदा नदी के किनारे कई किलोमीटर के क्षेत्र मे फैला मांडू पर्यटन स्थल रानी रूपमती व् बाजबहादुर की अपार प्रेम गथओं के कारन प्रसिद्द है.अफगानी वास्तुविद
द्वारा निर्मित मांडू मे प्रत्येक पत्थर प्रेम का गीत गाता मालूम होता है. यहाँ के प्रतिष्ठित महल इतिहास को जिवंत कर देते है.पूरे मनु को देखने के लिए दरवाजे है.दर्शनीय स्थलों को घूमने के लिए अलग अलग हिस्सों मे उन्हें विभाजित कर लिया जाये तो आसानी होगी.

हिंडोल महल

इसे झुला महल भी कहते है.यह महल भी लाल पत्थरो से बनाया गया है.यह महल अपने अदभुत वास्तुशिल्प के लिए विख्यात है,महल का उपरी हिस्सा कम और निचला भाग अधिक चौड़ा है. मांडू के पश्चिम भाग का यह महल दक्षिण से उत्तर की तरफ सीधा और पूर्व से पश्चिम की तरफ आडा है.

रेवा कुंड

बाज बहादुर ने रानी रूपमती की सुविधा के लिए इस कुंड को बनवाया था रानी के महल मे पानी पहुचाने का मुख्या स्त्रोत यह कुंडथा जो आज ऐतिहासिक महत्व रखता है.

बाजबहादुर महल

नज़ीर शाह खिलज़ी द्वारा बनवाया गया इस महल की विशेषताए है की इसका निर्माण बहुत कम समय मे कराया गया था , इस महल की छत से सारे शहर को देख सकते है. नक्कासीदार महल शिल्पकला का अदभुत नमूना है.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.