कलाकार बनने के लिए एक जुनून ही काफी है- चित्रकार प्रदीप कर्णिक

यदि अपने सपनों को पाना चाहते हो तो पूरी ईमानदारी से मेहनत करो, बिना किसी बात की परवाह किए अपने सपनों का पीछा करो। यही कहना है शहर के प्रसिद्ध चित्रकार प्रदीप कर्णिक का। शहर के प्रीतमलाल दुआ सभागृह में दो दिनों तक रही कला प्रदर्शनी में कई लोगों ने अपनी पेटिंग का प्रदर्शन किया। इसके आयोजक प्रदीप कर्णिक थे। जो कि शहर के जाने-माने आर्टिस्ट है। उनसे हुई बातचीत में उन्होने जिन्दगी के कई पहलुओं के बारे में बताया एवं अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि वे बी.कॉम. करने के बाद फाईन आर्ट में आए किंतु उनके पिता चाहते थे कि वे एल.एल.बी. करें इसलिए वे दिन में फाईन आर्ट एवं रात में एल.एल.बी. की पढ़ाई के लिए क्रिश्चियन कालेज जाते। उनका जन्म इंदौर का है लेकिन १९९० में वे मुंबई चले गए जहाँ उन्होंने 14 वर्ष रहकर काम किया। उन्होंने बताया कि उनका पहला एक्जीबिशन जहांगीर प्लाजा मुंबई में था, वे बताते है कि उन्होने मौत को बहुत करीब से महसूस किया है जिस पर उन्होंने कविताएँ भी लिखी वे अपनी एक नयी साईट लॉच कर रहे है जो एम.पी. की एक मात्र साईट है जहां ऑनलाईन एक्जीबिशन और पेटिंग को सेल किया जाएगा। वे महिलाओं पर फोकस कर उन पर ज्यादा पेटिंग करते हैं एवं भविष्य में वे यंग आर्टिस्ट को आगे बढ़ाना और उनकी मदद करना चाहते है। उन्होंने कहा कि जिंदगी में कुछ भी करने के लिए जुनून का होना बहुत अहम है एवं वे अपनी पूरी जिंदगी को केनवास के साथ रंगों से खेलते हुए बिताना चाहते है।
-द्वारा दिव्या पस्टारिया

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *