ई-रिटर्न के लिए अब मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी जरूरी

इंदौर. आयकर विभाग ने ई-रिटर्न के लिए करदाता का मोबाइल नं. और ई-मेल आईडी देना जरूरी कर दिया है। पहले करदाता का सीए अपने मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी से लॉग इन कर रिटर्न भर देता था। नई व्यवस्था लागू हो गई है। इसके तहत सीए करदाता का मोबाइल नं. और ई-मेल एड्रेस लेकर ई-रिटर्न में भरेगा। ऐसा करने पर करदाता के मोबाइल पर छह डिजिट का कोड नं. आएगा, जो उसे सीए को देना होगा। सीए इस कोड से फिर आपका आयकर रिटर्न भर सकेगा। ई-फाइलिंग साइट पर प्राइमरी डिटेल कॉलम में यह जानकारी भरना होगी। पिछले साल रिटर्न के समय इस कॉलम को स्किप (बिना भरे आगे बढ़ने) का विकल्प था। एक आईडी से चार लोगों का काम- यह राहत की बात रहेगी कि परिवार में चार लोग रिटर्न भरने योग्य हैं तो एक ही मोबाइल नं. और ई-मेल आईडी से काम हो जाएगा। हालांकि चार से ज्यादा सदस्यों के लिए वेबसाइट ई-मेल और मोबाइल नं. स्वीकार नहीं करेगी। इनकम टैक्स प्रैक्टिशनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष व सीए हितेश मेहता का कहना है कि यह बदलाव होने से करदाता और उनके सीए के लिए परेशानी बढ़ गई है। वहीं, विभागीय अधिकारियों के अनुसार यह बदलाव इसलिए किया है, ताकि करदाता को उसके रिटर्न के संबंध में कोई भी जानकारी एसएमएस और ई-मेल के जरिए दी जा सके।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.