हर विषय के टॉप 15% होंगे असिस्टेंट प्रोफेसरशिप के लिए पात्र

भोपाल. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा रविवार को आयोजित राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) में 72 फीसदी अटेंडेंस रही। असिस्टेंट प्रोफेसरशिप और जूनियर रिसर्च फैलोशिप के लिए भोपाल के 11 केंद्रों पर हुई नेट में 3235 परीक्षार्थी शामिल हुए। तय गाइडलाइन के अनुसार परीक्षार्थियों को 100 अंकों के पहले पेपर में 60 में से 50 प्रश्न हल करने थे। जबकि 100 अंकों के ही दूसरे पेपर में सभी 50 प्रश्न और 150 अंक के तीसरे पेपर में 75 प्रश्न हल करना जरूरी था। पास होने के लिए परीक्षार्थियों को पहले और दूसरे पेपर में 40-40 प्रतिशत और तीसरे पेपर में 50 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य है। इसके बाद की प्रक्रिया के तहत प्रत्येक विषय व केटेगरी के अनुसार टॉप 15 फीसदी उन उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की जाएगी, जो असिस्टेंट प्रोफेसरशिप के लिए पात्र होंगे। जूनियर रिसर्च फैलोशिप के लिए अलग से मेरिट लिस्ट तैयार होगी। भोज मुक्त विवि के रजिस्ट्रार डॉ. बी.भारती के अनुसार परीक्षा के दौरान यूजीसी की टीम ने सभी केंद्रों का दौरा किया। विवि की एक टीम भी केंद्रों के निरीक्षण के लिए गई थी। शहर में परीक्षा के लिए भोज मुक्त विवि के साथ ही भेल कॉलेज, शासकीय सरोजिनी नायडू गल्र्स हायर सेकेंडरी स्कूल, शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल कोटरा, शासकीय राजा भोज हायर सेकेंडरी स्कूल, नवीन कॉलेज, महिला पॉलीटेक्निक, शासकीय नवीन गल्र्स हायर सेकेंडरी स्कूल, शासकीय मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूल, शासकीय मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय और शासकीय हमीदिया कॉलेज को सेंटर बनाया गया था। पहले पेपर का समय सुबह 9.30 से 10.45 बजे, दूसरे का सुबह 10.45 से दोपहर 12 बजे और तीसरे पेपर का समय दोपहर 1.30 से 4 बजे तक था। व्यावसायिक परीक्षा मंडल द्वारा रविवार को मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स के लिए आयोजित प्री-एमसीए में 88 फीसदी अटेंडेंस रही। कुल 2400 आवेदकों में से 2112 ही परीक्षा में शामिल हुए। यह परीक्षा एमसीए की 5320 सीटों के लिए आयोजित की गई थी। परीक्षा में शामिल छात्र संख्या के हिसाब से 3208 सीटें अभी से खाली रहने की नौबत आ गई है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.