अब सोशल साइट्स पर शुरू हुई बैंकिंग, कई फेसिलिटीज हैं अवेलेबल

मोबाइल बैंकिंग के बाद अब बैंक्स, सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शिफ्ट हो रहे हैं। ट्रांजेक्शन के साथ बैंकिंग से जुड़ी अन्य फेसिलिटीज फेसबुक और ट्‌विटर जैसी साइट्स पर अवेलेबल होने लगी हैं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की ओर से स्थापित इंस्टीट्यूट फॉर डेवलपमेंट एंड रिसर्च एंड बैंकिंग टेक्नोलॉजी, हैदराबाद ने बैंकिंग सेक्टर में सोशल मीडिया फ्रेमवर्क पर विस्तृत रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी और एक्सिस बैंक सोशल नेटवर्किंग साइट्स के यूज में आगे निकल सकते हैं। फिलहाल, कोटक महिंद्रा बैंक, आईसीआईसीआई और एचडीएफसी बैंक ने फेसबुक व िट्‌वटर पर कुछ फेसिलिटीज शुरू की हैं। कोटक महिंद्रा बैंक ने जाईफाई नाम से अकाउंट शुरू किया है। फेसबुक और िट्‌वटर पर जीरो बैलेंस के साथ यह अकाउंट ओपन किया जा सकता है। इसमें बैंकिंग अकाउंट अपडेट होने के साथ ट्रांजेक्शन की सारी डीटेल भी िट्‌वटर पर होंगी। जाईफाई अकाउंट जीरो इंट्रेस्ट के साथ शुरू किया जा सकता है। साथ ही आईसीआईसीआई बैंक ने पॉकेट एप सर्विस शुरू की है। इसमें मनी ट्रांसफर के साथ कई फेसिलिटीज हैं। फेसबुक और ट्‌विटर के जरिए यूजर्स अपनी प्रॉब्लम सॉल्व करने के अलावा ट्रांजेक्शन भी कर सकते हैं। इसमें ट्रांजेक्शन अपडेट और स्टेटस की जानकारी तुरंत हासिल की जा सकती है। इस प्रोसेस में बैंक अकाउंट की अपडेट जानकारी मिलेगी। सिक्योर बैंकिंग के लिए यूजर्स को पासवर्ड से संबंधित बैंक की नॉर्मल फॉर्मेलिटीज पूरी करनी होंगी। साइबर लॉ कंसल्टेंट दीप चतुर्वेदी ने बताया कि सोशल साइट्स पर बैंकिंग की सुविधा में कई थ्रेट्स भी जुड़े हुए हैं। ट्रांजेक्शन डीटेल आेपन होने के कारण इसमें मोबाइल कंपनियों की सिक्योरिटी फिशिंग और हैकिंग के मामले बढ़ेंगे। वहीं, एचडीएफसी बैंक कॉरपोरेट कम्युनिकेशन के पुष्कर गुप्ता ने बताया कि कस्टमर्स के लिए ये फैसिलिटीज काफी हेल्पफुल हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.