एक स्क्वायर फुट की कीमत है 13.8 लाख रुपए, हांगकांग में बने दुनिया के सबसे महंगे घर

हांगकांग में इन दिनों रियल एस्टेट के दाम आसमान छू रहे हैं। उसकी बानगी है कि सन हंग काई प्रॉपर्टीज की नई 12 मंजिला इमारत के 12 आलीशन घर। राजधानी विक्टोरिया सिटी के पास के इलाके में विकसित किए गए इस घर की कीमत 819.1 मिलियन हांगकांग डॉलर (105.7 मिलियन अमेरिकी डॉलर) यानी 6.4 अरब रुपए है। इसे दुनिया का सबसे महंगा घर कहा जा रहा है। कंपनी ने बताया कि अगर खरीददार इसके पूरे पैसे देता है तो उसे प्रत्येक वर्ग फुट के लिए 13.8 लाख रुपए (175,735 हांगकांग डॉलर) खर्चने पड़ेंगे। इसे एक स्क्वायर फुट के हिसाब से बेचने पर यह दुनिया का सबसे महंगा घर कहलाएगा। यह शहर का भी सबसे महंगा घर साबित होगा। 4661 वर्ग फीट के घर में चार बेडरूम, एक प्राइवेट पूल, एक गार्डन, एक विशाल छत, दो कारों के लिए पार्किंग मौजूद है। महंगे घर का एक रिकॉर्ड हांगकांग में साल 2011 में ही टूट चुका है। 10 पोलाक्स पाथ पर 5989 स्क्वायर फुट में बने घर को 800 मिलियन हांगकांग डॉलर में खरीदा गया था। इसके एक स्क्वायर फुट की 10 लाख रुपए थी। लग्जरी रियल एस्टेट डेवलपर्स को लग्जरी होम मार्केट के अब तेजी से बढ़ने की उम्मीद है। बीते सालों में सरकार द्वारा हाई स्टाम्प ड्यूटी लागू करने के कारण रियल एस्टेट का धंधा काफी मंदा हो गया था, लेकिन अब इसमें तेजी आ सकती है। महंगे घरों में दिलचस्पी रखने वालों के लिए कंपनी ने अगले पांच महीने के लिए तीन फीसदी की छूट देने की घोषणा भी की है। सन हंग काई प्रॉपर्टीज शुरुआती खरीददारों को 15 फीसदी स्टाम्प ड्यूटी में 11.75 फीसदी की छूट भी देगी। हांगकांग के डेवलपर्स इन दिनों छूट का ट्रेंड तेजी से अपना रहे हैं, जिससे कि घरों की मांग लगातार बनी रहे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.