इस्कॉन में शुरू हुआ उत्सव, देर रात तक रहेगी रौनक

इंदौर. शहर में तीन दिनी जन्माष्टमी का उत्सव देर रात से शुरू हुआ। सोमवार को यशोदा माता मंदिर, इस्कॉन सहित शहर के ज्यादातर मंदिर, घरों में जन्माष्टमी का उत्सव हुआ। मंदिरों में दर्शन के लिए कतारें लगी। घरों में कान्हा के जन्म की तैयारियां शुरू हुई। देर रात को महाआरती होगी, कृष्ण का जन्म होगा और उत्सव मनेगा। माखन-मिश्री-पंजीरी का प्रसाद बंटेगा। प्राचीन यशोदा माता मंदिर में सुबह से ही दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ गई। महाभिषेक हुआ। रात को विशेष पूजा होगी। रात 12 बजे जन्म की महाआरती होगी। 19 अगस्त को 56 भोग लगाए जाएंगे। 20 अगस्त को मोर पंख के झूले में श्रीकृष्णजी (लड्डू गोपाल) झूला झूलेंगे। घरों में बच्चों को भी खूब तैयार किया गया। उन्हें बाल-गोपाल, कृष्णजी बनाया। कृष्णजी के वेश में बच्चे मंदिर पहुंचे। निपानिया स्थित इस्कॉन में दो दिनी कृष्ण जन्मोत्सव 18-19 अगस्त को मनेगा। सोमवार शाम 5 बजे भीम प्रतिज्ञा, जगाई मगाई उद्धार की नाट्य प्रस्तुति होगी। शाम 7 बजे से संध्या आरती, 8 से 10 बजे तक भक्ति नृत्य के बाद रात 10 बजे राधा-गोविंद के अभिषेक के बाद महाआरती होगी। इस्कॉन के अध्यक्ष महामनादासजी ने बताया 19 अगस्त को नंदोत्सव मनेगा। उधर, राधाकृष्ण मंदिर, क्लर्क कॉलोनी में सोमवार को शाम 6 बजे से शृंगार दर्शन, रात 12 बजे महाआरती होगी। गोविंदा आला रे की गूंज होगी, रात को फूटेगी – कृष्ण जन्माष्टमी पर सोमवार शाम को शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में मटकी फूटेगी। मल्हारगंज में मुख्य कार्यक्रम होगा। रात 8 बजे गोविंदा मटकी फोड़ेंगे। इसके लिए खास तैयारियां की गई हैं। भगवान श्रीकृष्ण का जन्म अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। पंडितों के अनुसार 18 अगस्त को सुबह 11.51 बजे से शुरू होगा जो 19 अगस्त को दोपहर डेढ़ बजे तक रहेगा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.