पासपोर्ट के लिए अलग से शपथ-पत्र नहीं : आईजी के निर्देश जारी

इंदौर. पासपोर्ट बनवाने के लिए अब किसी भी थाने पर अलग से शपथ-पत्र नहीं देना होगा। फॉर्म के साथ लगा शपथ-पत्र ही काफी होगा। सभी थानों को निर्देश दिए जा रहे हैं। इंदौर में पिछले चार सालों में एक लाख से ज्यादा लोगों ने पासपोर्ट बनवाए। महीनों तक आवेदन पेंडिंग रहते हैं। सरकार ने पूरा सिस्टम ऑनलाइन कर दिया है, इसके बावजूद पुलिस वेरिफिकेशन रिपोर्ट में देरी होती है। इंदौर की पेंडेंसी बढ़ती देख पुलिस मुख्यालय ने पिछले दिनों आईजी को इसके बारे में शिकायत की थी। आईजी ने इस पर जांच करवाई तो पता चला बहुत से थाने आवेदकों से अलग से शपथ-पत्र बनवाते हैं। इसकी आड़ में वसूली की भी शिकायतें मिली हैं। पासपोर्ट के फॉर्म के साथ ही एनेक्शचर-आई के तहत शपथ-पत्र होता है। इसके अलावा पुलिस को अपने लिए अलग से शपथ-पत्र लेने की जरूरत नहीं है। पुलिस जो रिपोर्ट बनाकर देती है वही अधिकृत होती है। थाने के पुलिसकर्मी आवेदकों से अपने हिसाब का शपथ-पत्र बनवाते हैं। इसमें उनसे पूछा जाता है कि इस थाने के अलावा कहीं और अपराध नहीं है, अगर पता चलता है तो जिम्मेदारी मेरी होगी। ऐसी ही कई और बातें लिखवाई जाती हैं। जबकि एनेक्शचर-आई में बनाए गए शपथ-पत्र में आवेदक, उसके परिजन, पता, अपराध की जानकारी सहित सभी महत्वपूर्ण बिंदु रहते हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.