खजराना गणेश ने पहना सवा करोड़ रुपए का स्वर्ण मुकुट

इंदौर. गणेश चतुर्थी के मौके पर शहरभर के गणेश मंदिरों में गणराज की पूजा-अर्चना की जा रही है। अलसुबह से ही भक्त अपने आराध्य के दर्शन को गणेश मंदिर पहुंचे और दर्शन कर भगवान का आशीर्वाद लिया। इस मौके पर प्रसिद्ध खजराना गणेश मंदिर में गणेशजी को जयपुर एवं मैसूर के महलों की प्रतिकृति के बीच विराजित किया गया है, जबकि गर्भगृह को मयूर पंख से सजाया है। सुबह गजानन के ध्वजा पूजन के साथ ही दस दिनी महोत्सव की शुरुआत हो गई है। गणेशजी को सवा लाख मोदक का भोग समर्पित कर प्रसाद बांटा गया। फूल बंगला भी सजा : खजराना गणेश का दरबार राजमहल की तरह सजाया गया है। फूल बंगला भी सजाया गया है। साथ ही भगवान को सवा करोड़ रुपए की लागत से बना स्वर्ण मुकुट भी पहनाया गया है। मंदिर में अलसुबह से ही दर्शन के लिए भक्तों की कतारें लग गई थीं। मंदिर में श्रद्धालुओं की कतार के लिए महाकाल की तर्ज पर बेरिकेड्स लगाए गए और दर्शन करवाए गए। हालांकि भीड़ ज्यादा होने से दर्शन के लिए भक्तों को आधे से एक घंटे तक इंतजार करना पड़ा। तीन कतारों में लाइन लगवाकर दर्शन करवाए जा रहे हैं। रात को भजन संध्या : सुबह वैदिक मंत्रोच्चार के बीच ध्वजा पूजन के साथ दस दिनी गणेशोत्सव का शुभारंभ हुआ। इंदौर कलेक्टर आकाश त्रिपाठी ने पूजन कर उत्सव की शुरुआत की। मंदिर प्रशासक मनीषसिंह ने ध्वजा पूजन किया। कलेक्टर की मौजूदगी में गजानन को सवा लाख मोदकों का महाभोग लगाया गया और भक्तों को प्रसाद वितरित किया गया। मंदिर में रात को भजन संध्या का आयोजन किया गया है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.