स्विट्जरलैंड के इंजीनियरों ने बनाया बैटरी रहित पेसमेकर

पूरी दुनिया में बेहतरीन घड़ियां बनाने के लिए पहचाने जाने वाले स्विट्जरलैंड के इंजीनियरों ने अब बैटरी रहित पेसमेकर बनाकर अपने हुनर का एक और नायाब नमूना पेश किया है। दिल के मरीजों की हार्टबीट को सामान्य रखने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाला यह उपकरण सामान्यत बैटरी से संचालित होता है। अगर इसकी बैटरी खत्म हो जाए, तो उसे बदलने की प्रक्रिया काफी जटिल होती है। इसके लिए मरीज को दोबारा पीड़ादायक सर्जरी की प्रकिया से गुजरना पड़ता है। ऐसे में मरीजों को इससे निजात दिलाने के लिए स्विस इंजीनियरों ने बैटरी रहित पेसमेकर बनाकर अपना कमाल दिखाया है। इस अनूठे पेसमेकर को बर्न विश्वविद्यालय के ह्रदयरोग विभाग के इंजीनियर एड्रियान जुरबुचेन ने विकसित किया है। यह स्पेसमेकर उस स्वचालित घड़ी की तरह काम करता है जो कलाई पर पहनने के साथ खुद ही चार्ज होती रहती है। नए पेसमेकर को भी गतिमान रखने के लिए उसे नाड़ी के साथ सीधे जोड़े जाने की व्यवस्था की गई, जिससे वह नाड़ी की गति से चार्ज होता रहेगा। जुरबुचेन ने बर्सिलोना में यूरोपियन सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी की वार्षिक बैठक में पेसमेकर की जानकारी देते हुए बताया कि इस पेसमेकर का परीक्षण अभी शुरूआती चरण में है जिसके तहत इसका प्रयोग केवल सूअरों पर ही किया गया है। मानवों पर परीक्षण के लिए इसमें अभी काफी वक्त लगेगा। हालांकि, उन्होंने इस उपरकण को बनाने के लिए किसी कंपनी के साथ संयुक्त उपक्रम लगाने या किसी तरह के पेंटेट के लिए आवेदन जैसी कोई जानकारी नहीं दी।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.