जो कॉलेज केंद्र नहीं बनेगा उसे कोई जिम्मेदारी नहीं : यूनिवर्सिटी

इंदौर. यूजी-पीजी की सारी परीक्षाएं एक साथ 10 दिसंबर से आयोजित होना है। इसके लिए परीक्षा फॉर्म भी भरना शुरू हो गया है। इस बीच कुछ कॉलेजों के परीक्षा केंद्र बनने से इंकार पर यूनिवर्सिटी प्रबंधन सख्त हो गया है। उसने कह दिया है कि जो कॉलेज तैयार नहीं होगा,वह अपने छात्रों की परीक्षा खुद आयोजित कर ले औैर भविष्य में उक्त कॉलेजों को कभी कोई भी जिम्मेदारी नहीं सौंपी जाएगी। दरअसल कई कॉलेज ऐसे हैं जो परीक्षा केंद्र बनने से इंकार कर रहे हैं। यूनिवर्सिटी ऐसे सभी कॉलेजों को नोटिस जारी कर रही है। इसमें स्पष्ट कहा जाएगा कि इस बार जो कॉलेज परीक्षा केंद्र नहीं बनेगा या आनाकानी करेगा, उसकी संबद्धता के बारे में दोबारा विचार किया जाएगा। साथ ही उसे भविष्य में कभी परीक्षा सेंटर ही नहीं बनाया जाएगा। या फिर कोई अन्य सख्त कदम उठाया जाएगा। इतना ही नहीं नए कोर्स की संबद्धता पर भी यूनिवर्सिटी सख्त रवैया अपनाएगी। प्रबंधन ने स्पष्ट कर दिया है कि इस बार परीक्षाएं तो सारी एक साथ ही होंगी। इसका खाका तैयार किया जा रहा है। इस बार लगभग 30 अतिरिक्त कॉलेजों को केंद्र बनाने की जरूरत प्रबंधन को पड़ेगी। प्रबंधन की कोशिश है कि लगभग 75 कॉलेजों को केंद्र बनाया जाए।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.