बिना आधार कार्ड के खाते में जमा होगी गैस सब्सिडी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर. रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी एक बार फिर सीधे खातों में आना शुरू होगी। केंद्र सरकार की घोषणा के तहत 15 नवंबर से देश के 54 जिलों में यह योजना दोबारा शुरू होने जा रही है, जिनमें प्रदेश के खंडवा, बुरहानपुर, हरदा, होशंगाबाद को शामिल किया गया है। वहीं इंदौर, भोपाल व अन्य जिलों को 1 जनवरी से इस योजना का लाभ मिलेगा। योजना की प्रारंभिक जानकारी गैस कंपनियों के पास आ गई है। जिन ग्राहकों के पास आधार कार्ड नहीं है, वह बैंक में अन्य पहचान पत्र द्वारा भी अपना खाता खुलवा कर रसोई गैस ग्राहक नंबर को खाते से लिंक करवा सकेंगे। केंद्र ने इससे पहले जब योजना लागू की थी, तब इसे आधार कार्ड के साथ जोड़ा गया था। अधिकांश ग्राहकों के पास आधार कार्ड नहीं होने से इसका काफी विरोध हुआ और आखिर में योजना निरस्त कर दी गई। अब इसे दोबारा शुरू किया जा रहा है। अब इस योजना में आधार कार्ड नहीं होने पर भी बैंक खाते से रसोई गैस ग्राहक नंबर जोड़ने का अन्य विकल्प दिया जाएगा। इंडेन गैस कंपनी के एरिया मैनेजर एम. रियाज ने कहा कि डायरेक्ट कैश सब्सिडी को लेकर प्रारंभिक जानकारी आई है। इसके तहत आधार कार्ड नहीं होने पर भी ग्राहक अन्य पहचान पत्रों से अपने खाते लिंक करा सकते हैं। जिले में रसोई गैस के 8 लाख से अधिक ग्राहक हैं। पुरानी योजना के समय मात्र ढाई लाख लोगों ने ही अपने खाते को आधार कार्ड के जरिए लिंक कराया था। अभी भी साढ़े पांच लाख ग्राहकों को इस योजना से जोड़ना शेष है। बैंक खातों से गैस कनेक्शन जुड़ने के बाद ग्राहकों को घर पर गैस सिलेंडर मिलने पर नॉन सब्सिडी सिलेंडर के हिसाब से पूरी राशि देना होगी और सब्सिडी की राशि ग्राहक के खाते में सीधे जमा हो जाएगी।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...