सात एमएड कॉलेजों की मान्यता अटकी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल। बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी से संबद्ध शहर के मास्टर आॅफ एजुकेशन (एमएड) कोर्स संचालित ग्यारह में से सात कॉलेजों की मान्यता नेशनल असेसमेंट एंड एक्रेडिटेशन काउंसिल (नैक) के मूल्यांकन के कारण अटक गई है। नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) ने शहर के दो कॉलेजों को शोकाज नोटिस जारी कर दिया है, जबकि बाकी कॉलेजों से नैक मूल्यांकन की रिपोर्ट तलब की है। शहर के फिलहाल केवल चार कॉलेजों की ही मान्यता को बरकरार रखा गया है। इस रिपोर्ट के बाद बीयू की एमएड परीक्षा कुछ समय के लिए और टल गई है। एमएड के सत्र 20-13-14 की परीक्षाएं अभी होना बाकी है। एनसीटीई ने भोपाल सहित प्रदेश के एमएड कोर्स संचालित ३७ कॉलेजों की समीक्षा रिपोर्ट जारी कर दी है। इनमें भोपाल के ही ग्यारह कॉलेज शामिल हैं। इनमें से ज्यादातर कॉलेजों के पास अभी भी नैक के मूल्यांकन की रिपोर्ट नहीं होने के कारण इनकी मान्यता पर छाए संकट के बादल साफ नहीं हो सके हैं। एनसीटीई ने इन कॉलेजों से एमएड के लिए अनिवार्य नैक की रिपोर्ट मांगी थी। कॉलेजों ने जवाब में एनसीटीई को नैक की टीम द्वारा दौरा करने की जानकारी देकर मान्यता बरकरार रखने की अपील की थी। लेकिन एनसीटीई ने अपील को खारिज कर नैक मूल्यांकन के बाद ही कॉलेजों की मान्यता के मामले में आगे कोई फैसला करने की बात कही है। एनसीटीई ने कॉलेजों को नैक की रिपोर्ट जमा करने के लिए दो महीने का समय दिया गया है। उधर, बीयू रजिस्ट्रार एलएस सोलंकी ने उन्हीं कॉलेजों के छात्रों को परीक्षा में शामिल करने की बात कही है जिनके पास एनसीटीई की मान्यता होगी।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...