इस्कॉन इंटरनेशनल का स्वर्ण जयंती उत्सव

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर. निपानिया स्थित इस्कॉन मंदिर पर 17 से 23 जनवरी तक इस्कॉन इंटरनेशनल की स्थापना के 50 वें वर्ष (स्वर्ण जयंती महोत्सव) मनाया जाएगा। स्वर्ण जयंती महोत्सव का शुभारंभ इंदौर से होगा। विश्व में पहला महोत्सव इस्कॉन इंदौर की मेजबानी मे हो रहा है। इसमें देश-विदेश के सौ से अधिक संतों और भक्तों की मौजूदगी में भक्ति-योग महोत्सव होगा। इस दौरान रूस, आस्ट्रेलिया, चीन और अमेरिका के विभिन्न शहरों से सौ से अधिक विदेशी संत भी आएंगे। इस्कॉन मंदिर इंदौर के अध्यक्ष एवं उत्तर भारत के सचिव स्वामी महामनदास ने बताया अतंरराष्ट्रीय श्रीकृष्ण भावनामृत संघ की स्थापना 1966 में हुई थी । वर्ष 2015-2016 में विश्व के इस्कॉन मंदिरों में स्वर्ण जयंती वर्ष के कार्यक्रम आयोजित होंगे, जिसका श्रीगणेश इस्कॉन मंदिर इंदौर में होने जा रहा है। महोत्सव के लिए विदेशी संतों का आगमन 17 जन. को निपान्या स्थित मंदिर परिसर में होगा। इस्कॉन इंडिया की अधिशासी कमेटी के चेयरमेन स्वामी गोपालकृष्ण गोस्वामी और अमेरिका इस्कॉन सोसायटी के स्वामी मुरलीधर भी इनमें शामिल हैं। 17 जनवरी को शाम 5 बजे से स्थानीय संगठनों द्वारा विदेशी संतों की अगवानी एवं स्वागत का कार्यक्रम रखा गया है। 18 जनवरी को मंदिर परिसर में नौका विहार महोत्सव मनाया जाएगा जो शाम 5 से 8 बजे तक होगा। कमल के पुष्प पर राधा-कृष्ण द्वारा नौका विहार का यह मनोरम उत्सव हजारों भक्तों की साक्षी में होगा। 19 जनवरी को दोपहर 3 बजे से गीता भवन से जंजीरावाला चौराहा तक देशी-विदेशी संतो द्वारा नगर कीर्तन यात्रा निकाली जाएगी। 20 जन. को सभी विदेशी संत स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे। रथयात्रा के लिए 40 फीट ऊंचे और 60 फीट लबें विशेष रथ का निर्माण शुरू हो चुका है। यह रथ हाइड्रोलिक सिस्टम से ऊपर-नीचे हो सकेगा

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...