करगिल युद्ध में एक पैर खो चुके हैं ये मेजर, अब दौड़ेंगे अनिल अंबानी के साथ

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर. करगिल युद्ध में देश की रक्षा करते हुए अपना एक पैर गंवा चुके भारतीय सैन्य अफसर मेजर डी. पी. सिंह भी इंदौर मैराथन में हिस्सा लेंगे। उनका शहर के लिए संदेश है कि है कि “जंग में मैंने पैर तो खो दिया, लेकिन मेरी हिम्मत दोगुना हो गई। पैर खोकर भी मैं तो दौ़ड़ूंगा मैराथन। क्या आप दौड़ेंगे मेरे साथ?’ 22 फरवरी को तीन चरणों में होनेवाली जियो इंदौर मैराथन में मेजर डी. पी. सिंह 21 किलोमीटर रन में हिस्सा लेंगे। मैराथन के लिए शहर से 6 हज़ार 500 रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। इंटरनेशनल मैराथनर्स, उद्योगपति अनिल अंबानी और सैन्य अफसर भी इंदौर मैराथन में हिस्सा लेंगे। शहर के सेल्फ हेल्प ग्रुप्स और डॉक्टर्स भी जियो इंदौर मैराथन में शामिल होंगे।
20 व 21 फरवरी को डिस्ट्रीब्यूट किया जाएगा मैराथन किट
एकेडमी ऑफ इंदौर मैराथनर्स के प्रेसीडेंट डॉ. अरुण अग्रवाल ने बताया कि 17 फरवरी को फिज़िकल रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख थी। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आज यानी गुरुवार दोपहर 12 बजे तक ओपन रहेंगे। रजिस्ट्रेशन करा चुके पार्टिसिपेंट्स को एकेडमी की तरफ से किट दी जाएगी। नेहरू स्टेडियम में सुबह 10 से शाम 6 बजे तक किट डिस्ट्रिब्यूशन होगा। किट में चिप और मैराथन बिब शामिल रहेगा। यह चिप रूट पर लगे सेंसर्स के ज़रिए मैराथनर्स को ट्रैक करेगी। मैराथनर्स पर्टिकुलर एरिया पार करेंगे तो उनके मोबाइल पर संदेश आएगा।
मैराथन के तीन फेज़ेस का रूट
1. 21 किलोमीटर – यह सुबह 6.30 से पलासिया से शुरू होगी। यहां से राजवाड़ा होते हुए फिर पलासिया पहुंचेगी और वहां से एलआईजी चौराहे से होते होते हुए परदेशीपुरा जाएगी। यहां से यू टर्न लेकर फिर से एलआईजी चौराहे से होते हुए मैराथन विजयनगर जाएगी। विजयनगर से यह नेहरू स्टेडियम पर जाकर खत्म होगी।
2. 10 किलोमीटर – यह मैराथन सुबह 7.15 से नेहरू स्टेडियम से शुरू होगी। वहां से एलआईजी, परदेशीपुरा, फिर एलआईजी होते हुए नेहरू स्टेडियम पर खत्म होगी।
3. हेरीटेज वॉक -इसकी शुरुआत सुबह 9.30 बजे से राजबाड़ा से होगी। गांधी हॉल, पलासिया से होते हुए मैराथन नेहरू स्टेडियम पर खत्म होगी।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...