पुदीना से चेहरे के मुहांसे होते हैं खत्म

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पुदीना एक छोटा सा पौधा होता है जो अक्सर नमी वाली भूमि पर उगता हुआ पाया जाता है। इसमें उड़नशील तेल पाया जाता है, जो पेपरमिंट जैसी सुगंध देता है। इसका वानस्पतिक नाम मेन्था स्पीकेटा है। वनांचलों में आदिवासी इसका इस्तेमाल कई तरह की स्वास्थय समास्याओं के निदान के लिए करते हैं। चलिए आज जानते हैं पुदिने से जुड़े आदिवासी हर्बल ज्ञान और कुछ हर्बल नुस्खों के बारे में। कील, मुहांसों से आराम- पुदिने की कुछ पत्तियों को कुचलकर इसमें 3 बूंद नींबू के रस की डाली जाए और इस मिश्रण को चेहरे के कील मुहांसों पर लगा दिया जाए। फिर 5 मिनट बाद चेहरा धो लिया जाए। तो एक सप्ताह में ही मुहांसे और कील खत्म हो जाएंगे और चेहरा चमक जाएगा। सर्दी- खांसी में आराम- ठंड में बुखार आने पर पुदीने की पत्तियों का रस और अदरक के रस की समान मात्रा मिलाकर रोगी को देने से आराम मिलता है। पातालकोट के आदिवासियों के अनुसार करीब एक गिलास पानी में 10 पुदीने की पत्तियां, थोड़ी-सी काली मिर्च और थोड़ा काला नमक डालकर उबालें। पांच मिनट उबालने के बाद इस पानी को छानकर पीने से सर्दी- खांसी, जुकाम और बुखार से आराम मिलता है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.