बेमौसम बारिश का दौर जारी : किसानों को सता रहा फसलें खराब होने का डर

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर। मप्र से गुजर रही कम दबाव की द्रोणिका की वजह से इंदौर सहित प्रदेशभर में बारिश का दौर जारी है। गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात गरज-चमक के साथ हल्की बारिश शुरू हुई जो अब तक जारी है। बारिश कभी रिमझिम तो कभी तेज हो रही है। इस दौरान तेज हवा भी चल रही है। इंदौर के साथ ही महू में भी बारिश का दौरा सुबह से ही जारी है। इसके अलावा आसपास के क्षेत्रों में भी मावठा गिर रहा है। कई स्थानों पर ओले भी गिरे जिससे गेहूं, प्याज सहित अन्य फसलों को भी नुकसान हुआ है। शहर में गुरुवार को 3.2 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। बारिश के कारण दिन का तापमान घटा और रात का तापमान बढ़ा है। गुरुवार को अधिकतम तापमान 29.3 डिग्री और न्यूनतम 17.8 डिग्री सेल्सियस रहा। बुधवार को क्रमश: 32.1 और 16.6 डिग्री था। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) के कारण मौसम में यह बदलाव आया। 14 मार्च तक मौसम ऐसा ही रहेगा और हल्की बारिश भी होने की संभावना है। प्रदेश से गुजर रही है कम दबाव की द्रोणिका : मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी मप्र में एक सिस्टम सक्रिय है। इसके अलावा महाराष्ट्र के मराठवाड़ा से दक्षिण पूर्व राजस्थान तक एक कम दबाव की द्रोणिका बनी हुई है। जो मप्र से होकर गुजर रही है। द्रोणिका के कारण अरब सागर से नमी आ रही है।

किसानों के लिए मुसीबत : यह बारिश किसानों के लिए मुसीबत बनकर आई है। तेज बारिश के कारण गेहूं, चने की फसल को काफी नुकसान हुआ है। फसलें आड़ी होने से फसलें कटवाने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। फसल के रंग की चमक फीकी होगी। साथ ही गुणवत्ता पर भी असर होगा।

स्वाइन फ्ल फिर से पसार सकता है पैर : बेमौसम यह बारिश आमजन जीवन को भी प्रभावित कर रही है। इस बारिश फिर से से तापमान में कमी आएगी, ऐसे में स्वाइन फ्लू का संक्रमण बढ़ने का खतरा पैदा हो गया है। मौसम को देखते हुए हमें स्वास्थ्य को लेकर अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है। सबसे ज्यादा जरूरत बच्चों, गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों है।

ऐसे बचें फ्लू से
– भीड़ वाली जगहों और गंदगी से दूर रहें।
– घर लौटने के बाद सबसे पहले हाथ धोएं।
– स्मोकिंग न करें या करने वालों से दूर रहें। तला खाना न खाएं।
– एन-95 मास्क पहनें, यदि यह उपलब्ध नहीं हो तो तीन लेयर वाला मास्क पहनें।
– बच्चे को सर्दी-जुखाम है तो स्कूल न भेजें।
– सर्दी, खांसी, सिरदर्द और बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...