अब इंदौर में ही हो सकेगी मिलावट की जांच

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर. इंदौर सहित प्रदेश के चार शहरों में खाद्य प्रयोगशाला (फूड लैब) बनाई जाएगी। शासन ने इसे मंजूरी दे दी है। खाद्य औषधि प्रशासन विभाग ने कलेक्टर को पत्र लिखकर जमीन मांगी है। लैब बनने के बाद मिलावटखोरों के खिलाफ जल्द कार्रवाई हो पाएगी। अभी प्रदेश में सिर्फ भोपाल में ही राज्य खाद्य प्रयोगशाला है। यहां पूरे प्रदेश से खाद्य पदार्थों के सैंपल जांच के लिए भेजे जाते हैं। इसके कारण पूरी प्रक्रिया में ज्यादा समय लगता है और भोपाल लैब पर बोझ भी बढ़ जाता है। इसे देखते हुए शासन ने प्रदेश में इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और जबलपुर में फूड लैब बनाने की मंजूरी दी है। सात करोड़ में एक लैब एक लैब के निर्माण पर सात करोड़ रुपए खर्च होंगे। ये लैब दो-दो एकड़ जमीन पर तैयार होंगी। इस हाईटेक लैब में एक्सपर्ट द्वारा खाद्य पदार्थों की सभी जांच की जाएगी। शासन ने भोपाल लैब को भी बेहतर बनाने की मंजूरी दी है। इसके लिए पांच करोड़ रुपए स्वीकृत किए हैं। इसके साथ ही यहां स्थित ड्रग लैब को भी तीन करोड़ रुपए से आधुनिक बनाया जाएगा। वर्ल्ड बैंक की मदद से प्रदेश में मोबाइल फूड लैब का निर्माण भी करवाया जा रहा है। इस पर 15 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। यह लैब एक गाड़ी में बनाई जा रही है जो जल्द तैयार हो जाएगी। इसमें लगभग सभी प्रमुख जांच हाथोंहाथ हो सकेगी। इसे पूरे प्रदेश में त्वरित कार्रवाई के लिए भेजा जाएगा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...