रोहित की दो डबल सेन्चुरी के बीच समानताएं, 5 चीजें रहीं एक जैसी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारतीय क्रिकेटर रोहित शर्मा का 30 अप्रैल (1987) को जन्मदिन है। वनडे क्रिकेट में डबल सेन्चुरी लगाने वाले वह वर्ल्ड के इकलौते बैट्समैन हैं। अब तक वनडे में पांच बार डबल सेन्चुरी लगी है। इसमें से चार बार भारतीय और एक बार अन्य देश के बैट्समैन ने यह कारनामा किया है। सचिन तेंडुलकर, वीरेंद्र सहवाग, रोहित शर्मा के बाद वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल ने वनडे में डबल सेन्चुरी लगाई। रोहित के जन्मदिन पर Dainikbhaskar.com आपको रोहित की दोनों डबल सेन्चुरी के बीच पांच प्रमुख समानताओं के बारे में जानकारी दे रहा है।
कुछ यूं बने पांव डबल सेन्चुरी
पहली बार यह कमाल लिटिल मास्टर सचिन तेंडुलकर ने 2010 में किया था। ग्वालियर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ सचिन ने नाबाद 200 रन बनाए थे। इसके बाद उनका रिकॉर्ड 2011 में वीरेंद्र सहवाग ने तोड़ा। उन्होंने वेस्ट इंडीज के खिलाफ इंदौर में 219 रनों की पारी खेली थी। डबल सेंचुरी बनाने का अगला कारनामा 2013 में रोहित शर्मा ने किया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु में हुए मैच में रोहित ने 209 रन बनाए थे। और अब, दोबारा से रोहित शर्मा ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया। कोलकाता में श्रीलंका के खिलाफ बनाए गए 264 रनों के साथ वह वनडे में एक पारी में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। इसके बाद वर्ल्ड कप-2015 (24 फरवरी) में वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 215 रन की पारी खेली थी।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...