चिड़ियाघर में आए तीन नन्हे मेहमान

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

15_1431642383

कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय में गुरुवार को शेरनी मेघा ने तीन शावकों को जन्म दिया। तीनों स्वस्थ हैं। अभी यह पता नहीं चल पाया है कि इनमें कितने मेल और फीमेल हैं। इनकी संख्या ज्यादा भी हो सकती है। हालांकि जू प्रबंधन के सामने सबसे बड़ी चुनौती इस बार भी यही है कि शावकों को कैसे सुरक्षित रखा जाए। इसलिए प्रबंधन मेघा के आसपास किसी को भी नहीं आने दे रहा है। अभी तो मेघा बच्चों पर खूब दुलार लुटा रही है औैर उनके पास ही बैठती है।
विशेषज्ञों के अनुसार गुस्सा होने की स्थिति में वह कभी भी शावकों को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए कर्मचारियों को भी पिंजरे के पास नहीं जाने दिया जा रहा है। सुरक्षा के तहत बच्चों को मां से अलग करने की भी तैयारी है।
सालभर में 10 बच्चे हो गए
आकाश-मेघा (लॉयन का यह जोड़ा) जू में तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। जू में बिल्ली प्रजाति के सालभर में छोटे दस बच्चे हो गए हैं। इनमें तीन टाइगर, तीन लॉयन और बाकी तेंदुए के बच्चे शामिल हैं। जू प्रबंधन जल्द ही इन सबके नामकरण का प्रोग्राम भी आयोजित करेगा।
देश के अन्य जू की तुलना में यहां तेजी से बढ़ोतरी

इंदौर जू में बिल्ली प्रजाति के जानवरों की संख्या देश के अन्य जू की तुलना में तेजी बढ़ रही है। अभी इस प्रजाति के 28 जानवर हो गए हैं। इनमें 6 तेंदुए, 2 लॉयन, 9 टाइगर और 8 जंगली बिल्ली शामिल हैं। प्रभारी अधिकारी डॉ. उत्तम यादव के अनुसार यह संख्या सालभर में ही दो गुनी हो हई है। सालभर पहले यह संख्या 12 थी।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...