प्राचीन इंसान की एक नई प्रजाति की खोज

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वैज्ञानिकों की रिपोर्ट के मुताबिक़ इथियोपिया के अफ़ार क्षेत्र में प्राचीन इंसान की एक नई प्रजाति का पता चला है.खोजकर्ताओं को 33 से 35 लाख वर्ष पुरानी जबड़े की हड्डियां और दांत मिले हैं.इसका मतलब है कि यह नया होमोनिन उस वक़्त का है जब दूसरी प्राचीन इंसानी प्रजातियां जिंदा थीं.
australopithecus_

होमिनिन मानव की तरह ही खड़े होकर चलने वाली जाति थी.इससे यह भी पता चलता है कि इंसान की फैमिली ट्री हमारी सोच से कहीं ज्यादा जटिल है.यह अध्ययन नेचर जर्नल में छपा है.इस नई प्रजाति का नाम ऑस्ट्रेलोपिथिकस डेयीरेमेडा है जिसका मतलब अफ़ार के लोगों की भाषा में ‘नज़दीकी संबंधी’ है इन अवशेषों की जो उम्र है उससे लगता है कि ये शुरुआती इंसानों की उन चार प्रजातियों के समकालिन थे जो एक ही काल के थे.इनमें सबसे प्रसिद्ध ऑस्ट्रेलोपिथिकस अफ़ारेंसिस है. इसे लूसी के नाम से भी जाना जाता है.पहले लूसी को इंसानों का सबसे निकटवर्ती पूर्वज माना जाता था. इसका जीवन काल 29 लाख से 38 लाख वर्ष के बीच था.लेकिन केन्या में 2001 में केन्यानथ्रॉपस प्लैटीऑप्स, चाड में ऑस्ट्रेलोपिथिकस बहरेलग़ैजैली और अब स्ट्रेलोपिथिकस डेयीरेमेडा की खोज से पता चलता है कि कई प्रजातियां एक साथ अस्तित्व में थीं.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.