निगम बजट पेश, 40 करोड़ रुपए हरियाली और ‘आदर्श’ सड़कों के लिए

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

budget

गर निगम चुनाव के दौरान भास्कर द्वारा चलाए गए “स्वच्छ इंदौर अभियान’ के तहत किए गए वादे को महापौर मालिनी गौड़ ने परिषद के पहले बजट में जगह दे दी। वित्तीय वर्ष 2015-16 के लिए गुरुवार को पेश बजट में मेयर ने 40 करोड़ रुपए हरियाली और अच्छी सड़कों के लिए रखे हैं।
हर घर से उठाएंगे कचरा, जनता से लेंगे 60 रु.
सफाई को लेकर बजट में कड़ा निर्णय भी है। मेयर ने शहर में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण की भी घोषणा की है। वार्ड 71 से इसकी शुरुआत होगी। इसके बाद इसे आगे बढ़ाया जाएगा। हालांकि इस व्यवस्था के लिए निगम हर घर से दो रु. रोज के हिसाब से 60 और व्यावसायिक संस्थान या दुकान से तीन रु. रोज के हिसाब से 90रु. प्रति माह लेगा। हालांकि इस व्यवस्था के लिए संसाधन और अन्य व्यय के लिए बजट में 20 करोड़ रु. अतिरिक्त रखे हैं।

बजट की अन्य प्रमुख घोषणाएं

>25 करोड़ रुपए स्मार्ट सिटी मिशन के लिए, ताकि इंदौर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में देश के 20 शहरों में शामिल हो सके।
>हर विधानसभा क्षेत्र में एक आदर्श वार्ड बनेगा, जो स्मार्ट वार्ड की श्रेणी में आएगा। “भास्कर’ ने चुनाव से पहले “रूबरू’ के माध्यम से स्मार्ट सिटी-स्मार्ट वार्ड अभियान चलाया था। यह निर्णय उसी के तहत लिया गया।
>250 करोड़ शहर की मुख्य सड़क और लिंक रोड के विकास के लिए। { 170 करोड़ सीवरेज प्रोजेक्ट, नाला टेपिंग और एसटीपी प्लांट के लिए।
>58 करोड़ की लागत से बायपास के रहवासियों को पानी पहुंचाया जाएगा।
>35 करोड़ में बनेंगे शहर के पुल-पुलिया।
>10 करोड़ रु. से महू नाका से फूटी कोठी रोड के बीच विश्राम बाग की जमीन पर लक्ष्मणसिंह गौड़ उद्यान बनाया जाएगा।

ये सड़कें इतनी सुंदर और साफ-स्वच्छ बनाई जाएंगी कि उन पर बैठकर खाना खाया जा सकेगा। इसमें प्रमुख स्थान और रोड के बीच व साइड में पौधारोपण, सेंट्रल डिवाइडर, फुटपाथ, लाइट, स्ट्रीट चेयर, प्रमुख रोटरी, उद्यान और मनोरंजन स्थलों का विकास और ग्रीन एरिया डेवलप किया जाएगा। 2131 करोड़ रुपए के इस बजट में 72.92 करोड़ का घाटा दिखाया गया है।
एक्सपर्ट

स्मार्ट सिटी जैसी योजना के साथ मध्य क्षेत्र के लिए अच्छा सोचा गया है। हरियाली और करदाताओं की सुविधा पर भी फोकस किया। विश्राम बाग, बायपास पर पानी पहुंचाने, डोर-टू-डाेर कचरा संग्रहण की घोषणा अच्छी है। जरूरी है मेयर वादे पूरा करें। जनता भी आगे आए। अमल में मेहनत लगेगी। – डॉ. जयंतिलाल भंडारी, आर्थिक मामलों के विशेषज्ञ

दूरगामी योजनाओं का भी जिक्र जरूरी था

बजट अच्छा है। बायपास तक पानी पहुंचाने और स्मार्ट सिटी का उल्लेख ठीक है। फ्लाय ओवर के लिए केंद्र सरकार से मदद लेने का उल्लेख होना था। शहर में 30 साल के लिए पानी की समस्या खत्म करने के लिए चोरल डेम से पानी लाने की याेजना को आगे बढ़ाना होगा। अभी इसका उल्लेख नहीं है। – कृष्णमुरारी मोघे, पूर्व महापौर

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.