भारत में 32 साल बाद विश्व हिंदी सम्मेलन,मोदी करेंगे उद्घाटन

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

10_09_2015-9hindi1a
भारत में 32 साल बाद हो रहे 10वें विश्व हिंदी सम्मेलन का भोपाल में गुरुवार सुबह 10 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन करेंगे। पीएम सुबह 9:35 बजे नई दिल्ली से भोपाल पहुचेंगे। प्रोग्राम में हिस्सा लेने के बाद वे दोपहर 12 बजे दिल्ली रवाना हो जाएंगे। बता दें कि विदेश मंत्रालय यह प्रोग्राम करा रहा है जो कि 10 से 12 सितंबर तक चलेगा। इसमें 39 देशों के लोग हिस्सा ले रहे हैं। प्रोग्राम के आखिरी दिन केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और एक्टर अमिताभ बच्चन भी इसमें हिस्सा लेंगे। (यहां पढ़ें डिटेलः भारत में हुए दोनों हिंदी सम्मेलनों का हिस्सा बने थे महात्मा गांधी)
क्या है खास?
* बोलती गीता- श्लोक पर पेन रखते ही सुनें हिंदी भावार्थ
विश्व हिंदी सम्मेलन में बोलती श्रीमद भागवत गीता भी खूब चर्चा में है। इसे भोपाल के ही आदर्श प्रकाशन ने छापा है। इसे सुनने के लिए एक स्पेशल मशीन बनाई गई है। इसे टाॅकिंग पेन का नाम दिया गया है। गीता के जिस श्लोक पर आप यह पेन रखेंगे, आपको वह श्लोक और उसका हिंदी भावार्थ भी पढ़कर सुनाएगी।
* सॉफ्टवेयर – हिंदी व्याकरण की गलती पता चलेगी
महात्मा गांधी हिंदी यूनिवर्सिटी वर्धा एक एेसा साॅफ्टवेयर डेवलप कर रही है जो हिंदी में लिखते ही व्याकरण की गलती पकड़ लेगा। यूनिवर्सिटी ने वाक्यों का एनालिसिस करने वाला सॉफ्टवेयर भी तैयार किया है। वर्ड पैड पर हिंदी में वाक्य लिखते ही यह सॉफ्टवेयर बता देगा कि कौन सा शब्द संज्ञा, सर्वनाम व विशेषण है।
* 2 लाख का पुरस्कार: मध्य प्रदेश सरकार ने इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में हिंदी का प्रभावी उपयोग करने वाले व्यक्ति या संस्थाओं को हर साल 2 लाख रुपए तक का पुरस्कार देने का फैसला लिया है।
हिंदी सम्मेलन में क्या-क्या होगा?
सुबह 10 से 11.30 बजे -उद्घाटन समारोह
दोपहर 12 से 1.30 बजे – स्पेशल सत्र
>गिरमिटिया देशों में हिंदी (रोनाल्ड स्टूअर्ट मेक्ग्रेगर सभागार)
>विदेशों में हिंदी शिक्षण- समस्या और समाधान (अलेक्सेई पेत्रोविच वरान्निकोव सभागार)
>विदेशियों के लिए भारत में हिंदी अध्ययन की सुविधा (विद्यानिवास मिश्र सभागार)
>अन्य भाषा भाषी राज्यों में हिंदी (कवि प्रदीप सभागार)
दोपहर 3 से 4.30 बजे
>विदेश नीति में हिंदी (रोनाल्ड स्टूअर्ट मेक्ग्रेगर सभागार)
>प्रशासन में हिंदी (अलेक्सेई पेत्रोविच वरान्निकोव सभागार)
>विज्ञान क्षेत्र में हिंदी (विद्यानिवास मिश्र सभागार)
>संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी में हिंदी (कवि प्रदीप सभागार)

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.