खादी है इस सीज़न का कूलेस्ट ट्रेंड

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

sabyasachi_1442036489
खादी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा रहा है अनगिनत वजहों से. हाथ से बने होने की वजह से इसे एक अलग ही जगह मिली. इसे ना सिर्फ मशीनीकरण के खिलाफ ताकत के रूप में इस्तेमाल किया गया बल्कि आज़ादी के लड़ाइ में इसे इस्तेमाल करने वालों को इससे एक अलग ही अपनापन था. जैसे-जैसे साल बीत और इंडिया में फैशन बड़ा और बेहतर होता गया, खादी ने भी कई बदलाव देखे. क्रांती और स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े एक फैब्रिक होने से लेकर, ये शीक बन गया.
अलग-अलग डिज़ाइनर्स को एक बार फिर से खादी से प्यार हो गया. खादी को अपने नए और बदले हुए अंदाज़ में रैंप्स पर देखना अपने आप में एक अलग ही अनुभव है. जो ये भी दिखाता है कि किस तरह डिज़ाइनर्स अपनी व्यक्तिगत सोच का इस्तेमाल करते हुए खादी जैसे सिंपल फैब्रिक को एक नया और अनोखा रूप दिया. इसकी खास बात ये रही की जब फैशन इंडस्ट्री ने खादी को ‘भवनों’ से बाहर पॉश डिज़ाइनर स्टूडियोज़ में लाने का फैसला किया. कुछ ने कट्स, सिलुएट्स और स्ट्रक्चर के साथ कमाल किया, दूसरों ने इसे बांस, डेनिम और लिनेन के साथ मिलाया. खादी को सबसे पहले रीइनवेंट करने वाले डिज़ाइनर्स में RohitBal, Rajesh Pratap Singh और Anamika Khanna शामिल हैं जिन्होंने एकसाथ खादी ग्रामोद्योग भवन और टेक्सटाइल मिनिस्ट्री के साथ मिलकर पेश किया Huts to High Street नाम का एक कलेक्शन. और खादी को उसका दर्जा और खोई हुई पहचान दिलाने की ओर उठाया पहला कदम.
हर डिज़ाइनर ने खादी को नया रूप देते वक्त अपनी खुद की कहानी उसमें जोड़ी है जिससे पहले कभी ना देखा गया प्रभाव बनाया. ये परिवर्तन अप्रत्याशित, एक्साइटिंग और बहुत ही शानदार था. अचानक ही फैशन की भाषा ऐसे बदली जिसके बारे में सोचना काफी मुश्किल था.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.