देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के युवा उत्सव में दिखी देश की संस्कृति

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

1911_1-Edited

इंदौर.देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में सोमवार को शुरू हुआ अंतर जिला स्तरीय युवा उत्सव जिसमे निमाड़ के पुराने लोक नृत्य और गणगोर नृत्य किये गए| ग्रुप लीडर मिताली ठाकुर ने बताया की इसकी तयारी वह १५ दिन से कर रहे हैं| महाराष्ट्र और गुजरात की संस्कृति से भी लोगों को रूबरू करवाया| छात्रों ने भगोरिया कर दर्शको का दिल जीत लिया| जूतो के ऊपर लुंगी, बनियान और चश्मा और लड़कियों के गहने पहनकर पूरा आदिवासी समां भी तैयार किया|
थाली और ढोल की थप आदिवासी संगीत की अनुभूति करा रही थी वहीँ बासुरी की थप से कुछ छात्रों ने वृन्दावन की याद दिला दी| राजस्थान के लोक नृत्य कलबेरिया से लेकर पश्चिम बंगाल का परलिया नृत्य भी छात्रों ने बखूबी दर्शाया|
त्योहारी माहोल शुरू होने की झलक भी इस युवा उत्सव में दिखाई दी जहा रंगोली को थीम बनाया गया वहीँ दशहरे पर होने वाले देश के अलग अलग प्रांतो के नृत्य को भी इसमें जोड़ा गया| पुरे भारत को दर्शाने में छात्रों ने कोई कमी नहीं छोड़ी,इसलिए यह युवा उत्सव बहुत ही सरहनीय रहा|

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.