इंदौर में आई चंदेरी महोत्सव की लहर

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

chanderi mahotsav

इंदौर। शहर में इन दिनों चंदेरी महोत्सव चल रहा है। मृगनयनी एम्पोरियम पर चंदेरी के बुनकर अपना ख़ास ख़ास कलेक्शन लेकर आए हैं। चंदेरी फेब्रिक और डिजाइन दोनों ही अपने आप में अनूठी है। इसका नाम देश-दुनिया में फेमस है। चंदेरी की साड़ियां बॉलीबुड में भी कई एक्ट्रेस की पहली पसंद है। कई कलाकार तो चंदेरी तक पहुंच चुके हैं। इनमें से एक नाम करीना कपूर और अामिर खान का भी है। आमिर और करीना अपनी फिल्म थ्री इडियट के प्रमोशन के लिए चंदेरी पहुंचे थे और यहां पर उन्होंने बुनकरों की मदद का वादा भी किया था।
चंदेरी फैब्रिक बनाने के लिए मिलमेड यार्न के इस्तेमाल के बाद तकरीबन अंग्रेज़ मैनचेस्टर से कॉटन यार्न वाया कोलकाता लेकर आए। इससे चंदेरी फैब्रिक का टेक्सचर काफी बदल गया। इसके बाद 1930 के करीब जब कपड़े के वार्प यानी ताने में जापानी सिल्क और वेफ्ट यानी बाने में कॉटन रखा तो साड़ी की म़जबूती कम हुई। दोनों फैब्रिक्स के धागे आपस में उस तरह नहीं जुड़ सके जैसे पहले जुड़ते थे। यही वजह है कि साड़ी को लंबे समय तक फोल्ड कर रखो तो साड़ी फोल्ड पर से कट जाती है।
चंदेरी मध्यप्रदेश के अशोक नगर जिले में स्थित है। आज के दौर में चंदेरी की पहचान यहां की कशीदाकारी और साड़ियों के लिए है। लेकिन चंदेरी का इतिहास भी उतना ही गौरवशाली है जितनी प्रसिद्ध यहांं की कशीदाकारी है। इस ऐतिहासिक शहर का उल्लेख महाभारत में भी मिलता है। 11वीं शताब्दी में यह एक महत्वपूर्ण सैनिक केंद्र था और प्रमुख व्यापारिक मार्ग भी यहीं से होकर गुजरता था। कहा जाता है कि विख्यात संगीतकार बैजू बावरा की कब्र भी यहीं पर है। यहां ऐसी कई एेतिहासिक इमारतें हैं, जो पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.