इंदौर आएँगे एक्टर रघुवीर यादव

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

raghuveer-yadav
इंदौर। रंगमंच, टीवी और फिल्म में अपनी अलग पहचान रखने वाले रघुवीर यादव इंदौर आ रहे हैं। वे 15 दिसंबर से शुरू हो रहे नाट्य समारोह रंग-बंसी में शिरकत करेंगे। खास बातचीत में रघुवीर यादव ने कहा अब नाटको से लोक नाट्य रूपों का लोप हो रहा है। अब न तो लोकरंग की छटा और खुशबू है न ही लोक गीत-संगीत की लय ताल है।
80 के दशक में रघुवीर यादव ने दूरदर्शन पर मुंगेरीलाल के हसीन सपने और मुल्ला नसीरुद्दीन शाह जैसे सीरियल्स के जरिए घर-घर में अपनी पहचान बना ली थी। इसके बाद वे चाचा चौधरी में दिखे, लेकिन फिर निजी टीवी चैनल्स पर उनकी झलक भी नहीं दिखी। यादव का कहना है टीवी चैनल्स तो फैक्टरियों जैसे खोल दिए गए हैं। यहां मशीनी तरीके से कार्यक्रम तैयार होते हैं, क्वालिटी नहीं है। एक सीरियल के 500 एपिसोड तक चलता रहता है। ऐसे माहौल में काम करने का आनंद नहीं आता। दूरदर्शन के सीरियल्स में हर कैरेक्टर पर काम होता था।
नौटंकी, रामलीला, रासलीला सहित कई लोक नाट्य खत्म हो गए हैं। अब शहरों के थिएटर में भी लोक नाट्य खत्म हो गए है। अब शहरों के थिएटर में भी लोक नाट्य के तत्व नजर नहीं आते, जबकि हमारा थिएटर इनसे काफी समृद्ध हो सकता है। बचपन से पारसी थिएटर से जुड़ा था। हम गांव-गांव जाकर शो करते थे। वहां कलाकार को गाना-बजाना, मंच बनाना सब सीखना पड़ता था। जब बाद में मॉर्डन थिएटर औऱ एनएसडी से जुड़ा तो यह ट्रेनिंग काम आई।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.