सफाई देखने इंदौर आई दिल्ली की टीम

cleanliness_-drive

इंदौर. देश के 75 चुनिंदा शहरों के बीच सफाई व्यवस्था के लिए केंद्र सरकार की प्रतियोगिता मंगलवार से शुरू हो गई। प्रतियोगिता 20 जनवरी तक चलेगी और 25 जनवरी को नतीजे घोषित होंगे। प्रतियोगिता के पहले ही दिन केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा तय की गई एजेंसी क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) की टीमें इंदौर पहुंच गई। उन्होंने निगम के अफसरों के साथ शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर दौरे भी शुरू कर दिए। दो टीमों में बंटकर उन्होंने सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। साथ ही फोटो खींचकर और वीडियो बनाकर सीधे दिल्ली भेज दिए।

एक टीम ने खजराना क्षेत्र से अपने काम की शुरुआत की। टीम ने खजराना काली मंदिर के आसपास की सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। टीम खजराना में मौजूद कॉलोनियों में भी पहुंची। यहां सफाई व्यवस्था को लेकर जनता की राय भी ली और कुछ सवाल भी पूछे। इसके बाद टीम विजयनगर चौराहा, सुखलिया चौराहा और काशीपुरी बस्ती में गई। रविदासपुरा बस्ती में सार्वजनिक शौचालय की स्थिति भी टीम ने देखी। बीके सिंधी कॉलोनी और महू नाका पर स्थित बालदा कॉलोनी बस्ती के सार्वजनिक शौचालय की स्थिति भी टीम ने देखी। वहीं दूसरी टीम ने रीगल तिराहे पर मौजूद सामुदायिक शौचालय के निरीक्षण से काम शुरू किया। टीम ने एसपी ऑफिस के आसपास साफ-सफाई की स्थिति देखी। पश्चात टीम के सदस्य भीमनगर बस्ती पहुंचे। यहां जनता से चर्चा के बाद टीम चोइथराम सब्जी मंडी पहुंची। यहां उन्होंने इस बात की जानकारी ली कि सब्जियों के कचरे का निपटान कैसे होता है। टीम अगले दो दिनों तक शहर में रहेगी। शहर से निकलने वाले कचरे को किस तरह से ट्रेंचिंग ग्राउंड तक ले जाया जा रहा है, उसका किस तरह से निपटारा किया जा रहा है? इसकी भी जानकारी टीम जुटाएगी।

टीमें अपने साथ टेबलेट लाई हैं। इनमें सॉफ्टवेयर अपलोड है। ये लोग जनता से जो राय ले रहे हैं, जो सवाल कर रहे हैं, उसका वीडियो बनाकर सीधे दिल्ली भेज रहे हैं। टीमों ने जनता से पूछा सफाई की क्या स्थिति है, पहले से बदलाव हुआ है या नहीं? केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के पहले सफाई की क्या व्यवस्था थी और अब क्या है? टीमों के साथ निगम के अफसर जरूर थे, लेकिन उनके हिसाब से टीमों ने कहीं भी निरीक्षण नहीं किया। कहां निरीक्षण के लिए जाना है, कहां क्या करना है ये सब दिल्ली से पहले से तय है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *