आज है – GIRL CHILD DAY!!!!

girl child day

आज देशभर में गर्ल चाइल्ड डे सेलिब्रेट किया जा रहा है। 22 जनवरी को मनाए जाने वाले इस दिवस के अवार पर हम आपको कुछ ऐसे गर्ल चाइल्ड से के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने शहर ही देश में भी अपना राम रोशन कर, सफलता की एक नई मिसाल खड़ी की है|
बड़ी-बड़ी बोलती आंखे, चेहरे पर मासुमियत और टैलेंट का खजाना। हम बात कर रहे हैं चार साल की भरतनाट्यम नृत्यांगना और थिएटर आर्टिस्ट तनिष्का हथवलने की। ढाई साल की उम्र से ही मंच से जुड़ी तनिष्का विहान ड्रामा वक्र्स की सबसे नन्ही आर्टिस्ट है। के.जी. 1 में पढऩे वाली यह स्टार नृत्य प्रस्तुतियों का भारत भवन, शहीद भवन, रवींद्र भवन, भेल कल्चरल हॉल, सांची यूनिवर्सिटी ऑफ बुद्धिस्ट-इंडिक स्टडीज, दिल्ली का तालकटोरा स्टेडियम में लोहा मनवा चुकी हैं। आजाद बांसुरी, पंचमढ़ी उत्सव, आदि विद्रोही नाट्य समारोह, आगम उत्सव, नृत्य संकीर्तनम, ओजस्विनी महोत्सव और दिल्ली में आयोजित भेल स्थापना दिवस समारोह में अपनी कला से सभी को मंत्रमुग्ध कर चुकी है।
8 साल की स्तुति तिवारी एक्टिंग की उस्ताद हैं। बड़े-बड़ों को अपनी एक्टिंग के आगे दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर करने वाली स्तुति इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज के फाइनल्स में अपनी जगह बनाई है। एक्टिंग के अलावा स्तुति डांसिंग, सिंगिंग और पढ़ाई में भी अब्बल हैं। 2 साल की उम्र से मम्मी के साथ थिएटर जाने वाली स्तुति बचपन से ही एक्टिंग की बारीकियां सीखने लगी थीं। स्तुति को एक्टिंग का इतना शौक है कि वे घंटों आइने के सामने खड़े रहकर परफॉर्म करती रहती हैं।
2013 से अंडर 14 टूर्नामेंट्स में स्टेट लेवल की प्लेयर रही मानसी मिश्रा इन दिनों अपने खेल से शहर का नाम रोशन कर रही है। 7वीं क्लास की स्टूडेंट और बेसबॉल प्लेयर मानसी स्टेट और नेशनल लेवल पर कई प्रतियोगिताएं जीत चुकी हैं। 2014 में नेशनल स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के तहत 60वीं बेसबॉल की कैप्टन भी रहीं। इसके बाद 2015 में मप्र स्कूल गेम्स फेडरेशन के तहत 61वीं बेसबॉल प्रतियोगिता में दूसरा स्थान प्राप्त किया। वे 5वीं ड्रॉप रो बॉल में स्टेट और नेशनल लेवल में फस्र्ट रैंक होल्डर हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *