स्मार्ट सिटी की दौड़ में इंदौर11 नंबर पर

DCIM100GOPRO

इंदौर। स्मार्ट सिटी इंदौर ऐसा ख्वाब है जो पांच साल में पूरा होगा। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर 100 शहरों में हुई टक्कर में इंदौर 11वें क्रम पर रहा। प्रोजेक्ट में राजवाड़ा से एमओजी लाइन तक 700 एकड़ में स्मार्ट सिटी आकार लेगी। केंद्र और राज्य सरकार से हर साल मिलने वाले 200 करोड़ रुपए इस क्षेत्र को स्मार्ट बनाने के लिए खर्च होंगे।
छह महीने में अलग-अलग कामों की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार की जाएगी। इसके बाद काम जमीन पर नजर आने लगेगा। 20 में से पांच ही ऐसे चुनिंदा शहर हैं जहां रेट्रोफिटिंग और रिडेवलपमेंट एरिया में काम होंगे, जिसमें इंदौर भी शामिल है।
ये हैं टॉप 20 स्कोरर-
भुवनेश्वर, पुणे, जयपुर, सूरत, कोच्चि, अहमदाबाद, जबलपुर, विशाखापत्तनम, सोल्हापुर, धवनगिरी, इंदौर, नई दिल्ली, कोयम्बटूर, काकीनाडा, बेलगांम, उदयपुर, गोवाहाटी, चेन्नई, लुधियाना, भोपाल|
समझे वे 5 पाइंट जिनसे हमारे शहर में होगा विकास-
इंदौर के दिल राजबाड़ा और इसके आसपास की 742 एकड़ जमीन पर हर तरह की सेवाएं और सुविधाएं दी जाएंगी। यहां की सीवेज, पानी, बिजली, पब्लिक ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था को सुधारा जाएगा।
खान नदी पर रिवर फ्रंट का डेवलपमेंट किया जाएगा। योजना के तहत खान नदी को फिर से जिंदा करने की कोशिश की जाएगी।
एमओजी लाइन में पुराने सरकारी मकान तोड़कर कमर्शियल, शॉपिंग और रेसिडेंशियल कॉम्पलेक्स बनाएं जाएंगें।
मेट्रो ट्रेन की योजना को कार्यान्वित करवाया जाएगा।
सिटी को स्मार्ट बनाने के लिए फ्री वॉय-फॉय को बढ़ाया जाएगा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *