स्टार्टअप : शहर भी दे रहा टेक ऑफ का मौका

Indore-Development-Authority-1453952881

इंदौर के विश्वास द्विवेदी के स्टार्टअप आइडिया को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सराहना मिलने के बाद युवा वर्ग की आंखों में अब खुद के उद्योग-व्यवसाय का सपना परवान चढ़ रहा है। शासन-प्रशासन भी राह आसान करने में लगा है, ताकि युवाओं को अड़चन न आए। उन्हें सफलता की उड़ान देने के लिए सरकारी एजेंसियों के अफसर भी हौसला देते हुए कह रहे हैं, स्टार्ट टेक ऑफ।
युवाओं के लिए खुद का व्यवसाय शुरू करने में फंड व जगह मुख्य समस्या के रूप में उभरी है। एकेवीएन ने मेक इन एमपी के तहत आईटी पार्क में इनक्यूबेशन सेंटर की शुरुआत कर इसकी राह आसान कर दी है। फिलहाल 35 सीट का इनक्यूबेशन सेंटर आईटी पार्क में शुरू है। 9 जनवरी से शुरू हुए इस सेंटर में 35 सीट के लिए ऑनलाइन 44 आवेदन आने से ही साफ है कि युवा वर्ग स्टार्टअप के लिए कितना बेसब्र है। एकेवीएन के एमडी कुमार पुरुषोत्तम के मुताबिक, स्टार्टअप लांच के साथ ही निगम ने 100 सीटर बड़े और सर्वसुविधायुक्त इनक्यूबेशन सेंटर की नींव रखने का फैसला किया है, ताकि उद्यमी बनने की चाह रखने वाले युवा वर्ग को परेशानी न आए। चोइथराम मंडी के सामने मुख्य सड़क पर आठ हजार वर्गफीट के प्लॉट पर निगम कानया सेंटर छह-सात महीने में आकार ले लेगा।
इंदौर के विकास में बड़ी भूमिका निभा रहा आईडीए भी स्थानीय युवा जज्बे को देखते हुए इस दिशा में काम करने की तैयारी में है। आईडीए चेयरमैन शंकर लालवानी का कहना है, आईडीए ने तय किया है, स्कीम नंबर 78 में ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर के पास और स्कीम नंबर 140 में बिल्डिंग बनाकर उन्हें इनक्यूबेशन सेंटर का नाम दिया जाएगा। यहां सारी सुविधा उपलब्ध रहेगी। युवा यहां सीधे काम शुरू कर सकेंगे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *