गूगल बनी दुनिया की नंबर-1 कंपनी

Google

गूगल की पैरेंट कंपनी एल्फाबेट वैल्यू के मामले में एप्पल को पीछे छोड़ते हुए दुनिया की नंबर 1 पब्लिकली ट्रेडेड कंपनी बन गई है. इसके अलावा सोमवार को कंपनी की तरफ से एक अहम ऐलान हुआ जिसमें बताया गया कि दुनिया भर में जीमेल के 1 अरब से भी ज्यादा यूजर्स हैं.
इसके साथ ही दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल की पैरेंट कंपनी एल्फाबेट का मार्केट कैपिटलाइजेशन 565 अरब डॉलर हो गया है, जबकि एप्पल फिलहाल 539 अरब डॉलर पर है.
दिलचस्प बात यह है कि 2015 के आखिरी तीन महीनों में इस कंपनी को सबसे ज्यादा फायदा ब्रिटेन के बाजार में हुआ. यहां से इतने कम समय में ही इसे 1.5 अरब डॉलर का फायदा हुआ है.
गूगल अपनी ईमेल सर्विस में लगातार बदलाव करता आया है. इसकी फिल्ट्रिंग पहले से बेहतर हुई है और अलग टैब्स की वजह से फालतू मेल अब यूजर्स को परेशान नहीं करते.
पिछले साल कंपनी ने स्मार्ट रिप्लाई फीचर का भी ऐलान किया था जिससे यूजर्स ईमेल का ऑटोमैटिकली जेनरेट किए गए मैसेज से रिप्लाई कर सकता है. गूगल ने इसके लिए एक खास प्रोग्राम बनाया है जो इनबॉक्स में आने वाले ईमेल को पहचान कर उसकी भाषा समझता है. गूगल के मुताबिक आप इस फीचर का जितना ज्यादा यूज करेंगे, यह उतना ही सटीक जवाब देगा.
सबसे दिलचस्प यह है कि गूगल आने वाले दिनों में जीमेल को पूरी तरह से बदलने की तैयारी में है. पिछले साल के आखिर में फोर्ब्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक गूगल अपने पुराने जीमेल को इनबॉक्स से रिप्लेस करना चाहता है. इसके लिए गूगल पिछले 14 महीने से नए इनबॉक्स की टेस्टिंग कर रहा था.
नए इनबॉक्स में कई नए फीचर्स हैं जिनमें स्मार्ट रिकॉग्निशन ऑफ फोटोज और डॉक्यूमेंट जैसे फीचर शामिल हैं. फिलहाल इन इनबॉक्स का इस्तेमाल यूजर की मर्जी पर है. अगर वह चाहे तो इसी फॉर्मेट में काम कर सकता है या फिर इसे डिसेबल कर सकता है.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *