लकी अली के गीतों पर झूमे इंदौरियंस

lucky ali

इंदौर कैंसर फाउंडेशन की ओर से फंड रेजिंग इवेंट में लकी ने दी परफॉर्मेंस|जो भी काम करो दिल से करो। लकी अली की यह बात उन्होंने खुद इंदौर में साबित कर दी। शनिवार को हुए म्यूजिक कंसर्ट में उन्होंने दिल से गाने सुनाये कि पूरी ऑडियंस झूम उठी। कैं सर पेशेंट्स की मदद के लिए और अवेयरनेस के लिए इंदौर कैं सर फाउंडेशन की ओर से यह म्यूजिक कंसर्ट एमरल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल में हुआ। लकी अली ने अपनी पीस फु ल वॉइस से सबके दिलों को छू लिया।
लकी अली जैसे ही स्टेज पर पहुंचे तो ऑडियंस ने उनका तालियों और उनके ही गाए सॉन्ग्स गाकर शानदार वेलकम किया। उन्होंनें अपने गीतों के तरकश में से एक-एक करके जैसे गीतों की झड़ी लगाई, शहर के म्यूजिक लिस्नर्स उस पर झूमते नजर आए। लकी ने तू कौन है, जाने क्या ढ़ूढ़ता है मेरा दिल, हैरत हैरत है तू है तो हर एक लम्हा खूबसूरत है जैसे गानों पर खूब वाहवाही बंटोरी। इसके बाद अंजानी राहो में, ओ सनम, दिल ये मासूम है, कभी ऐसा लगता है, अल्ला जाने, जब हम छोटे छोटे बच्चे थे और आ भी जा सॉन्ग्स सुनाये। अपनी परफॉर्मेंस का लास्ट सॉन्ग एक पल का जीना फिर तो है जाना और और क्यों चलती है पवन सॉन्ग पेश कर लम्हे को यादगार बना दिया।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.