यूनिवर्सिटी के आईईटी में शुरू होगी शहर की पहली सायबर लैब

cybertechlab_14_06_2016

देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (आईईटी) में शहर की पहली सायबर लैब खुलने जा रही है। इसके लिए जरूरी सॉफ्टवेयर सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कम्प्यूटिंग (सीडैक) से आ गए हैं, जिनकी कीमत एक लाख रुपए है। संस्थान में 40 प्रोफेसर्स सायबर मामलों के जानकार हैं। इनमें से एक टीम तैयार की जा रही है। आईईटी के इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी विभाग के सीनियर प्रोफेसर डॉ. प्रतोष बंसल लैब ने बताया इससे छात्रों को तो सायबर की प्रैक्टिकल पढ़ाई करने को मिलेगी। यह लैब नए सत्र में शुरू कर दी जाएगी।
शहर में ऑनलाइन फ्रॉड और सोशल मीडिया के मामले बढ़ते जा रहे हैं। पुलिस के पास हर माह 40 से 50 आवेदन इससे संबंधित आ रहे हैं। इनमें से कुछ गंभीर होते हैं, जिन्हें बाहर के शहरों में भेजा जा रहा है, जिससे अपराधियों तक पहुंचने में काफी समय लग जाता है। आईईटी के डायरेक्टर डॉ. संजीव टोकेकर का कहना है सायबर अटैक रोकने के लिए विभाग में कई रिसर्च होंगी। जिन मामलों में पुलिस को मदद लगेगी, उसमें हम पूरी मदद करेंगे। हालांकि यह शर्त रखी गई है कि कोर्ट के मामलों में प्रोफेसर पेश नहीं होंगे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.