“फिल्म रिव्यु – अ फ्लाइंग जट “

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

flying jatt

रेमो डिसूजा की ‘ए फ्लाइंग जट्ट’ सुपरहीरो फिल्म है। हिंदी फिल्मोंं में सुपरहीरो फिल्में बनाने की कोशिशें होती रही हैं। सभी एक्टर और स्टार सुपरहीरो बन कर आकाश में उड़ना चाहते हें। इसमें अभी तक केवल रितिक रोशन को बड़ी कामयाबी मिली है। ‘ए फ्लाइंग जट्ट’ में बच्चों के बीच तेजी से लोकप्रिय हो रहे टाइगर श्रॉफ को यह मौका मिला है। टाइगर श्रॉफ में गति और चपलता है, इसलिए वे डांस और एक्शन के दृश्यों में मनमोहक लगते हैं। एक्टिंग में अभी उन्हें ल्रंबा सफर तय करना है।
सभी फिल्मों में नाटकीय दृश्योंं में उनकी सीमाएं जाहिर हो जाती हैं। यही कारण है कि उनके निर्माता-निर्देशक ऐसी कहानियां चुनते हैं, जिनमें कम बोलना पड़े और दूसरे भाव कम से कम हों। सभी निर्देशक टाइगर श्रॉफ से डांस और एक्शन के बहाने गुलाटियां मरवाते हैं। उनकी गुलाटियां बच्चों को अच्छी लगती हैं। गौर करें तो पब्लिक इवेंट में भी टाइगर श्रॉफ का आकर्षण गुलाटियां ही होती हैं।
फिल्म में न तो कोई नया अनोखा तकनीकी जादू है और न ही कथा/पटकथा/दृश्यों में रोमांच। टाइगर में सुपर हीरो वाला अंदाज नहीं दिखता। वह उससे कई दर्जा नीचे हैं। यहां न तो उनका ऐक्शन धमाल है और न ऐक्टिंग में कमाल। यहां हीरोपंती और बागी जैसा रोमांस भी नहीं है। जिस बीट पे बूटी का खूब हल्ला हुआ, वह भी यहां टूटी हुई है। टाइगर के फैन्स में छह से दस साल के बच्चों की संख्या बड़ी है। फिल्म को उन्हीं का सहारा है।
किशोरवय भी इससे खुद को कनेक्ट कर पाने में नाकाम रहेंगे। जैकलीन फर्नांडिस प्रभावित नहीं करतीं। उनके नैन-नक्श, ऐनक और अभिनय निराशाजनक हैं। हॉलीवुड अभिनेता नाथन जोंस बेकार गए। केके मेनन अच्छे अभिनेता हैं, दो-एक दृश्यों में उनका कुटिल अंदाज यह फिर साबित करता है। जबकि अमृता सिंह मां की भूमिका में कुछ लोगों को पसंद आ सकती हैं। यह फ्लाइंग जट ऊंचाइयों से डरता है जबकि सुपर हीरो हर लिहाज से ऊंचे उड़ते हैं। फिल्म आपको किसी ऐसी उड़ान पर नहीं ले जाती तो नई या ऊंची हो।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.