2000 के नोट पर लिखा दोन , नहीं है कोई गलती !

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

new 2000

देश में कम ही सही लेकिन बहुत सारे लोगों के पास ये 2 हजार रुपए का नोट पहुंच चुका है. सरकार दावे कर रही है कि नया नोट पुराने से अलग भी है और इसका सुरक्षा चक्र मजबूत भी है लेकिन सोशल मीडिया दावा कर रहा है कि नए नोट में सरकार ने बहुत बड़ी चूक कर दी है|
500 और हजार के नोट बंद होने के बाद से आज की तारीख में 2 हजार के नोट से ज्यादा कीमती कोई चीज नहीं. ये करारा नोट जब पहली बार किसी के हाथ में पहुंच रहा है तो वो खुशी से फूला नहीं समा रहा. लेकिन फेसबुक पर वायरल हो चुकी ये तस्वीर सरकार के नए नोट पर सवाल उठा रही है.
रिजर्व बैंक के अधिकारियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस से लेकर विज्ञापन तक जारी करके ये बताया था कि नया नोट पुराने नोट से कितना अलग और कितना सुरक्षित है. फिर कहां चूक रह गई.. वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि 2 हजार रुपए के नए नोट में सरकार ने दो की जगह दोन लिख दिया है.
दावा है कि सरकार ने दो की जगह दोन लिख दिया है. इसे बहुत ब़ड़ी गलती बताते हुए सरकार पर निशाना साधा जा रहा है. लेकिन सवाल ये है कि क्या वाकई गलती हुई है? क्या वाकई नोट में दो की जगह दोन गलती से लिखा गया है और किसी को पता भी नहीं चला. सच जानने के लिए एबीपी न्यूज ने इस खबर की पड़ताल की.
हम भारतीय रिजर्व बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर गए. हमने वहां ये जानने की कोशिश की कि रिजर्व बैंक नोट पर किन-किन भाषाओं में लिखता है वहां हमें ये दस रुपए का नोट मिला जिसके जरिए ये बताया गया था कि नोट पर कितनी भाषाएं होती हैं. हर नोट के पिछले हिस्से पर 15 भाषाएं होती हैं और इसमें हिंदी नहीं होती.
ठीक इसी तरह 2 हजार के नोट पर भी 15 भाषाओं में 2 हजार रुपए लिखा हुआ है. असमी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मलयालम, मराठी, उर्दू और नेपाली तक सभी भाषाओं में…
जिस दोन को गलती बताया जा रहा है दरअसल वो कोंकणी भाषा में दो लिखा हुआ है कोंकणी में दो को दोन लिखते हैं. मराठी में भी दो को दोन कहते हैं लेकिन फर्क इतना है कि कोंकणी में लिखा है दोन हजार रुपया, जबकि मराठी में लिखा है दो हजार रुपये. यानि सब नियम के हिसाब से ही है. नोट पर जिस भाषा में होता है उसी में लिखा हुआ है. कहीं कोई गलती या चूक नहीं हुई है

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.