2 से 15 दिसंबर तक टोल प्लाजा पर 500 के पुराने नोट मंजूर

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

notes-580x3951

देशभर के नेशनल हाईवेज पर टोल टैक्स की छूट 1 और 2 दिसंबर की मध्यरात्रि 12 बजे तक बढ़ाने के आदेश के साथ मंत्रालय ने 2 से 15 दिसंबर तक 500 रुपए के पुराने नोट स्वीकारने का फरमान जारी किया है। इससे देशभर के टोलवेज कंपनियों के सामने नया संकट खड़ा हो गया है। उन्हें चिंता यह हो रही है कि 500 रुपए के पुराने नोट की छूट का लोग बेजा फायदा उठाएंगे और जानबूझकर पुराने नोट से ही टोल टैक्स देंगे। इससे टोल प्लाजा पर खुल्ले पैसों की किल्लत बढ़ेगी और वाहनों की कतारें लगेंगी।
आदेश 24 नवंबर को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के सचिव संजय मित्रा ने जारी किया है। इसे एनएचएआई के चेयरमैन राघव चंद्रा को भेजा है। आदेश में साफ लिखा है कि टोल टैक्स वसूलने वाली तमाम कंपनियों को 2 से 15 दिसंबर की मध्यरात्रि तक 500 रुपए के पुराने नोट स्वीकार करने की अनुमति दी जाती है। आदेश में कहीं भी 1000 रुपए के पुराने नोट का जिक्र नहीं है। हालिया आदेश से यह आशंका भी जताई जा रही है कि अब मंत्रालय टोल टैक्स की छूट 1 दिसंबर से आगे नहीं बढ़ाएगा।
मंत्रालय सचिव ने देशभर में संचालित किए जा रहे टोल प्लाजा के लिए आदेश दिए हैं कि हर प्लाजा पर कम से कम 10 पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनों से लेस किया जाए ताकि कार्ड के जरिये भी पेमेंट हो सके। अब टोल कंपनियों को यह मशीन जुटाने के लिए गंभीरता से प्रयास शुरू करना होंगे। इसके लिए उन्होंने बैनर और पर्चे देकर सुविधा के प्रचार-प्रसार पर जोर दिया है।
– मंत्रालय ने प्रीपेड डेबिट कार्ड का चलन बढ़ाने को कहा है ताकि लोगों के साथ टोलकर्मियों के समक्ष आने वाली परेशानियां भी कम हों।
– आदेश में कहा गया है कि एनएचएआई को टैग (आरएफआईडी) सिस्टम बढ़ावा देने के लिए इनके वितरण पर मजबूत कोशिश करना चाहिए। इसमें चालक इच्छित अग्रिम राशि टोल प्लाजा पर देकर वहां से टैग इश्यू करा सकता है। यह टैग वाहन के अगले हिस्से में लगता है और टोल प्लाजा में विशेष लेन में लगे सेंसर इसे पढ़ लेते हैं। इस तरह वाहन चालक को टोल बूथ पर बिना रुके निकलने की सुविधा मिलती है।
एनएचएआई अफसरों को आदेश दिया गया है कि वे यह मॉनिटर करें कि पहले और 500 रुपए के पुराने नोट की छूट के दौरान टोल कलेक्शन में कितना अंतर आ रहा है। इससे यह पकड़ में आ सकेगा कि छूट का फायदा उठाकर टोल कंपनियां या टोलकर्मी कहीं जबरदस्ती तो टैक्स के रूप में 500 रुपए के बंद नोट नहीं शामिल कर रहे हैं। हालांकि अफसरों के लिए छोटी-छोटी गड़बड़ियां पकड़ना आसान नहीं होगा।
यदि 2 से 15 दिसंबर तक 500 रुपए के पुराने नोट स्वीकार करने का आदेश होता है तो इससे सुविधा के दुरुपयोग की आशंका बढ़ेगी। हर गाड़ी वाला 500 रुपए का पुराना नोट देना चाहेगा। बूथ पर हर किसी के लिए खुल्ले पैसों का इंतजाम करना संभव नहीं है। ऐसे में बूथ के आसपास वाहनों की कतार लगेंगी और विवाद होंगे। इंदौर-देवास टोलवेज कंपनी के बायपास और मांगलिया में एक-एक टोल बूथ हैं जिनसे रोजाना औसतन 12-13 लाख रुपए का टैक्स इकट्ठा होता है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.