10 दिनों में 1 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड हुआ BHIM ऐप

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

UPI (यूनाइटेड पेमेंट इंटरफेज) बेस्ड एप भीम को सरकार ने कैशलेस इकॉनमी को बढ़ावा देने के लिए 30 दिसंबर को लॉन्च किया.नोटबंदी के बाद देश में कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से लॉन्च किए गए BHIM ऐप को लोगों ने हाथों हाथ लिया है और महज 10 दिनों में 1 करोड़ से ज्यादा बार ये ऐप डाउनलोड हो चुका है. इस ऐप के तयीं लोगों की दिलचस्पी को देखकर पीएम मोदी ने खुशी जताई है.
मोदी ने अपनी खुशी का इज़हार ट्विटर पर किया. वो ट्वीट करते हैं, ”यह जान कर बेहद खुशी हुई कि महज 10 दिनों में एक करोड़ से भी ज्यादा बार भीम ऐप को डाउनलोड किया गया है.”
और साथ ही अब तक इससे लगभग 10 लाख ट्रांजेक्शन किए जा चुके हैं. भीम (भारत इंटरफेस फॉर मनी) जो यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) तथा यूएसएसडी (अनस्ट्रक्चर्ड सप्लिमेंटरी सर्विस डेटा) का नया संस्करण है.
ये एप इस वक्त सिर्फ एंड्रॉयड स्मार्टफोन के लिए गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है.

bhim-580x395

कैसे करें भीम एप का इस्तेमाल
गूगल प्ले स्टोर में जाकर NPCI डेवलपर्स वाला भीम एप डाउनलोड करें.
अपनी भाषा का चुनाव करें.
वैरिफिकेशन के लिए फोन नंबर दें और वैरिफिकेशन के लिए इंतजार करें.
वैरिफाई हो जाने के बाद पासवर्ड सेट करें और फिर अपने बैंक का चुनाव करें. इस एप में 30 बैंक सपोर्टिव हैं.
अगर आपके पास यूपीआई नंबर है तो ये मोबाइल नंबर से जानकारी ले लेगा और अगर नहीं है तो आप क्रिएट कर सकते हैं.
इसके लिए आपको यूजरनेम की जगह अपना मोबाइल नंबर डालना होगा.
मेन मेन्यू में आपको तीन ऑप्शन सेंड, रिक्वेस्ट, स्कैन एंड पे मिलेंगा.
इसे साथ ही आप ट्रांजेक्शन में जाकर पहले के किए गए ट्रांजेक्शन देख सकते हैं. प्रोफाइल और बैंक अकाउंट भी देश सकते हैं.
पैसे भेजन के लिए रिसीवर का यूपीआई नंबर डालें , अमाउंट डालें, बाद कोई भी रिमार्क डालें.
इसके बाद अपना यूपीआई पिन डालें और रिक्वेस्ट बैलेंस पर क्लिक करें . इसके साथ ही ट्रांजेक्शन पूरा हो जाएगा.
एप लॉन्चिंग के मौके पर मोदी ने कहा कि भीम एप का इस्तेमाल करना बेहद आसान है और इसे चलाने के लिए अंगूठा ही काफी है. सरकार एक नया सिक्योरिटी फीचर लॉन्च करने पर काम कर रही है, जिसका इस्तेमाल कर बिना फोन या इंटरनेट के लेनदेन किया जा सकेगा.
पीएम मोदी ने लॉन्च के मौके पर कहा था, “चाहे वह स्मार्टफोन हो या 1,000-1,200 रुपये का फीचर फोन, भीम को इस्तेमाल किया जा सकता है. इंटरनेट कनेक्शन की कोई जरूरत नहीं है. किसी को केवल अंगूठे का इस्तेमाल करने की जरूरत है. एक समय था, जब निरक्षर को ‘अंगूठा छाप’ कहा जाता था. अब समय बदल गया है. अब आपका अंगूठा ही आपका बैंक है.”

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.