तीन रिक्शाचालक बने मिसाल

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

auto_rickshaw_driver_indore_201726_92438_06_02_2017

शहर में इन दिनों तीन रिक्शाचालक समाजसेवा की मिसाल बने हुए हैं। ये सड़क हादसे के घायलों और गर्भवतियों को मुफ्त में अस्पताल पहुंचाते हैं, जबकि दिव्यांगों से आधा किराया ही लेते हैं। इनके नाम पुष्पराज राजपूत, हरनाद और संतोष हैं।
तीन साल पहले न्यू चित्रा नगर में रहने वाले 33 साल के पुष्पराज ने इस तरह से लोगों की मदद करने की शुरुआत की थी। इसके बाद हरनाद और संतोष भी उनकी इस पहल में जुड़ गए।
पुष्पराज ने तो अपने रिक्शा के पीछे ‘विकलांगों के लिए आधा किराया, एक्सीडेंटल व गर्भवती फ्री’ भी लिख रखा है। पुष्पराज ने बताया कि एक्सीडेंट केस में कई बार एंबुलेंस भीड़ में फंस जाती है, लेकिन ऑटो रिक्शा गलियों में से निकालकर घायल को अस्पताल तक पहुंचा ही देते हैं।
अब तक हजारों दिव्यांगों, घायलों और गर्भवतियों को मुफ्त में अस्पताल पहुंचा चुके पुष्पराज अन्य रिक्शा चालकों को भी इसके लिए जागरूक कर रहे हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...