सीईटी करवाने में यूनिवर्सिटी फेल

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अपने ही विभागों की संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीईटी) करवाने में यूनिवर्सिटी फेल हो गई। बुधवार को ऑनलाइन परीक्षा में तमाम गड़बड़ियां और खामियां सामने आईं। घंटों रहे छात्रों-अभिभावकों ने कुलपति का घेराव कर दिया। दिनभर इंतजार करवाने के बाद भी यूनिवर्सिटी एक केंद्र पर परीक्षा नहीं करवा सकी। इस केंद्र के 400 छात्रों के लिए गुरुवार को अलग से परीक्षा आयोजित की जाएगी।
अपने विभिन्न विभागों के 35 कोर्स की कुल 2080 सीटों पर प्रवेश के लिए इस वर्ष पहली बार यूनिवर्सिटी ने ऑनलाइन पद्धति से सीईटी कराने का ऐलान किया था। परीक्षा की एजेंसी तय करने में देरी के चलते यह एक महीने देरी से हुई। बुधवार को अलग-अलग ग्रुप के लिए दो सत्रों में परीक्षा होना थी।
सुबह 10 बजे से पहले सत्र की परीक्षा शुरू हुई तो सिस्टम फेल हो गए और तमाम केंद्रों से गड़बड़ियों की शिकायतें आने लगीं। नेमावर रोड पर परीक्षा केंद्र बने मथुरादेवी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में दोपहर एक बजे तक पहले सत्र की परीक्षा ही शुरू नहीं हो सकी। परीक्षा के इंतजार में अंदर बैठे छात्रों और बाहर धूप में इंतजार कर रहे अभिभावकों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस बीच दोपहर दो बजे से होने वाली दूसरे सत्र की परीक्षा देने भी छात्र केंद्र पर पहुंच गए।

DAVV5

गड़बड़ी की सूचना मिलने पर कुलपति डॉ. नरेंद्र धाकड़ मौके पर पहुंचे। अभिभावकों ने कुलपति को घेरकर नारेबाजी शुरू कर दी। कुलपति ने कहा कि सर्वर फेल होने के कारण परीक्षा नहीं हो सकेगी। छात्रों को परीक्षा के लिए 4.30 बजे प्रेस कॉम्प्लेक्स स्थित निजी कम्प्यूटर सेंटर ऑरलेंडो एकेडमी पहुंचने के निर्देश दिए। इस पर अभिभावक भड़क गए। उनका कहना था इतने इंतजार के बाद अब 15-20 किलोमीटर दूर कैसे जाएंगे। मौके पर पहुंचे एनएयूआई प्रदेश अध्यक्ष विपिन वानखेड़े और जिला अध्यक्ष अमित पटेल का कहना था छात्रों के खाने-पीने की व्यवस्था यूनिवर्सिटी करे। इस पर कुलपति आश्वासन देकर रवाना हो गए।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.