किशोर कुमार: अगर आप ना होते, तो इतने स्टार ना बनते

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

4 अगस्त, 1929 को जन्मे किशोर कुमार भारत के सबसे कामयाब सिंगर माने जाते हैं.मध्य प्रदेश के खांडवा में जन्में किशोर कुमार ने महज 58 साल की ज़िंदगी में वो मुकाम हासिल किया, जहां से वे अपनी मौत के तीन दशक के बाद भी लोगों के दिलों में बने हुए हैं.हालांकि किशोर कुमार को बॉलीवुड में ब्रेक मिलने का वाक़या बड़ा दिलचस्प है.गाने का पहला ब्रेक मिलने के बारे में किशोर कुमार ने ख़ुद बताया था कि जब वो मशहूर संगीतकार एसडी बर्मन से मिले तो अशोक कुमार उर्फ दादा मुनि ने उन्हें बताया था कि मेरा भाई भी थोड़ा-थोड़ा गा लेता है.

kishore

कैसे मिला किशोर कुमार को ब्रेक

उन्होंने बताया, “एसडी बर्मन ने मेरा नाम पूछा और कोई गाना गाने को कहा. इस पर मैंने उस समय का उनका ही गाया हुआ, एक मशहूर बंगाली गाना गाया. मेरा गाना सुनकर वो बोले- अरे यह तो मुझे ही कॉपी कर रहा है. मैं इसे निश्चय ही गाने का मौक़ा दूंगा. मैं तो सोच भी नहीं सकता था कि सचिन दा मुझसे गाना गवाएंगे.”
वो कहते हैं- “उनके संगीत की समझ इतनी अधिक थी कि अगर संगीतकार थोड़ी खराब धुन लेकर आए तो वो उसमें इतनी जान फूंक देते थे कि वो गाना अमर हो जाता था. किशोर कुमार का सेंस ऑफ ह्यूमर ऐसा था कि उनके बारे में कुछ भी अनुमान नहीं लगाया जा सकता था कि उनका अगला क़दम क्या होगा.”ललित ने बताया कि एक बार किशोर कुमार किसी हाइवे पर फ़िल्म की शूटिंग कर रहे थे. निर्देशक ने समझाया था कि ‘आपको गाड़ी में बैठकर आगे जाने और इसके बाद शॉट कट हो जाएगा.’

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.