विदेश कंपनी निजी स्कूलों के बाहर छात्रों में नशे की लत लगवा रही है

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विदेश कंपनी निजी स्कूलों के बाहर छात्रों में नशे की लत लगवा रही है। कई छात्र कंपनी के झांसे में आकर सिगरेट व गुटखा के आदी हो गए हैं।

बुधवार को विजय नगर निवासी 50 वर्षीय शख्स डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के पास पहुंचे और सिगरेट कंपनी मार्लबोरो के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पीड़ित के मुताबिक उनका बेटा स्कीम-78 स्थित प्रतिष्ठित स्कूल में पढ़ाई करता है। कुछ दिनों से वह सिगरेट का आदी हो गया।
maitreyi_201751_235920_01_05_2017
पूछताछ में उसने बताया कि कंपनी के कर्मचारी स्कूल के बाहर मिले थे। उन्होंने अलग-अलग फ्लेवर्स की सिगरेट का स्वाद चखाया। इसके बाद से उसके कई दोस्त पढ़ाई खत्म होने के बाद सिगरेट पीने लगे। पीड़ितों के मुताबिक कंपनी कई नामी स्कूलों के बच्चों को नशे का आदी बना रही है।स्मैक का नशा और ज्यादा हो इसलिए नशेड़ी युवक ऐसे-ऐसे खतरनाक तरीकों से नशा कर रहे हैं जो देखने वालों की रोंगटे खड़े कर सकते हैं। अब तक स्मैक को सिर्फ 100, 500 एवं एक हजार के कड़क नोट या फिर सिल्वर की पन्नी पर रखकर सेवन करते थे, लेकिन अब स्मैक को एविल नाम के इंजेक्शन में मिलाकर नशेड़ी अपने हाथ-पांव की नशों में लगा रहे हैं। ऐसा करने से स्मैक घुलकर शरीर की नश-नश में चल जाता है और कई गुना ज्यादा नशा करता है। जानकारों के अनुसार इस तरह का नशा जानलेवा साबित हो सकता है। एविल इंजेक्शन खुजली, इंफेक्शन व दवाओं के रिएक्शन करने पर मरीज को दिया जाता है। जानकारों की सलाह से नशेड़ियों का कोई इत्तफाक नहीं। इंजेक्शन में घोलकर स्मैक को शरीर की नशों में लगाने का चलन स्मैकियों में तेजी से बढ़ता जा रहा है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...