हो सकते हैं जिंदगी भर के लिए पैरालाइज्ड..!!!

नाईयों द्वारा गर्दन चटकवाने या मसाज करवाने से गर्दन के जोड़ों, मांसपेशियों और ऊतकों को नुकसान पहुंच सकता है क्योंकि आम तौर पर इन लोगों को शरीर के अंगों की समझ नहीं होती.

अक्सर देखा गया है कि लोगों को नाई के द्वारा सिर की मालिश और गर्दन चटकवाना काफी पसंद होता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये चंद पलों का आनंद आपके लिए जानलेवा भी साबित हो सकता है या आपको जिंदगी भर के लिए लकवा भी मार सकता है. हर बार की तरह बाल कटवाने और मसाज कराने के बाद 54 वर्षीय अजय कुमार जब नाई की दुकान से लौटे तो उन्हें सांस लेने में अचानक तकलीफ होने लगी. दरअसल नाई से गर्दन चटकवाने की वजह से उनकी फ्रेनिक नर्व को नुकसान पहुंचा था. ये नर्व डायाफ्राम को कंट्रोल करती है जो श्वसन प्रक्रिया में सहायक होता है.

 

यह भी पढ़ें: अगर है चाय के शौकीन तो ज़रा डर जाइये..!!

अजय को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने बताया उनका डायाफ्राम पैरालाइज्ड हो गया है और उन्हें जिंदगी भर वेंटिलेटर सपोर्ट की जरूरत पड़ सकती है. डॉक्टरो ने बताया ऐसा बहुत कम देखा गया है कि जिन मामलों में कि नर्व ठीक हुई हो.

डॉक्टरों ने बताया कि नाईयों द्वारा गर्दन चटकवाने या मसाज करवाने से गर्दन के जोड़ों, मांसपेशियों और ऊतकों को नुकसान पहुंच सकता है क्योंकि आम तौर पर इन लोगों को शरीर के अंगों की समझ नहीं होती.

ऐसा ही एक मामला कुछ दिन पहले भोपाल में सामने आया था जहां पेशे से किसान रहे हरनाम की नाई ने जब गर्दन चटकवाई तो उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी. नाई ने ठोड़ी पकड़कर हरनाम की गर्दन को जब झटका दिया तो उनकी मेजर आर्टरी दब गई और वह जमीन पर गिरकर तड़पने लगे. इससे पहले कोई कुछ समझता हरनाम की जान जा चुकी थी.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.