थम नहीं रहा भ्रष्टाचार के जहर का बोलबाला……!!!

धार. भ्रष्टाचार एक जहर है जो देश, संप्रदाय, और समाज के गलत लोगों के दिमाग में फैला होता है। इसमें केवल छोटी सी इच्छा और अनुचित लाभ के लिये सामान्य जन के संसाधनों की बरबादी की जाती है। इसका संबंध किसी के द्वारा अपनी ताकत और पद का गैरजरुरी और गलत इस्तेमाल करना है, फिर चाहे वो सरकारी या गैर-सरकारी संस्था हो। इसका प्रभाव व्यक्ति के विकास के साथ ही राष्ट्र पर भी पड़ रहा है और यही समाज और समुदायों के बीच असमानता का बड़ा कारण है। साथ ही ये राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक रुप से राष्ट्र के प्रगति और विकास में बाधा भी है। भ्रष्टाचार की एक और गुत्थी सामने आई है.

राज्य सरकार अधिनियम के अंतर्गत किसान को 30% की सब्सिडी देने की योजना जारी की गई थी जिसके तहत तिरुपति स्टील वर्क्स द्वारा वर्ष 2009 से 2017 तक म.प्र स्टेट एग्रो एंड डेवलप्मेंट कोर्पो. ली. भोपाल ब्रांच, जिला धार कार्यालय मे संलग्न सूची के अनुसार आपूर्ति की गई थी.

ये भी पढ़े: वर्ष 2018 के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय जौरा की चयन

लेकिन तिरुपति स्टील वर्क्स के अनुसार अब तक उन्हें भुगतान की पूरी राशि प्राप्त नहीं हो पाई है. इस सन्दर्भ मे उन्होने कार्यालय म.प्र स्टेट एग्रो डेवलपमेंट कार्पो. ली. भोपाल ब्रांच धार मे पदस्थ अधिकारी श्री आर.सी रुपारिया के खिलाफ विशेष जांच की मांग की है.

स्टील वर्क्स कंपनी के अनुसार श्री आर. सी रुपारिया ने वित्तीय अनियमितता करी जिसका प्रमाण राज्य सरकारी चालू खाते मे स्पष्ट उल्लेख है. उन्होंने ये भी आवेदन किया है कि राज्य सरकार उनके प्रकरणों की जांच राज्य सतर्कता अधिकारी से करवाएं एवं राज्य सतर्कता अधिकारी की जांच रिपोर्ट के आधार पर वित्तीय अनियमितता का भारतीय दंड संहिता के सी.आर.पी.सी व आई.पी.सी की सुसंगत धाराओं में प्रकरण पंजीबद्ध करवाए.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.